Login | Sign Up
logo
search
Login|Sign Up
Country
  • Sadhguru Exclusive
Also in:
English
ಕನ್ನಡ

चंद्र हिंदू नव वर्ष

देवी की कृपा पाएं

22 मार्च, 14 और 15 अप्रैल 2023 को विशेष अर्पण भेंट करके, अपनी सम्पूर्ण खुशहाली के लिए देवी की कृपा प्राप्त करके नये साल की शुरुआत करें।

“चंद्र कैलेंडर में नया साल जीवन के नये चक्र का प्रतीक है। खुद को अर्पित कर देने से जीवन को नई ऊर्जा और शक्ति से भरना आसान हो जाता है। देवी और उनकी कृपा के साथ जुड़ने के लिए वसंत विषुव (दिन और रात के बराबर होने का दिन) के बाद का समय सबसे अच्छा होता है।” – सद्‌गुरु

चंद्र हिंदू नव वर्ष न केवल सांस्कृतिक रूप से, बल्कि वैज्ञानिक रूप से भी बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसे धरती, सूर्य और चंद्रमा के बीच संबंध और मानव प्रणाली पर इसके असर को ध्यान में रखकर तय किया गया है। इसलिए नये साल की तारीखें खेती के नये मौसम की शुरुआत और वसंत के स्वागत के हिसाब से तय की गई थीं - 1 जनवरी को नया साल नहीं माना जाता था।

भारत में, हर क्षेत्र में चंद्र हिंदू नव वर्ष मनाने का एक अनूठा तरीका है। लिंग भैरवी में आयोजित इस उत्सव के एक हिस्से के रूप में, देश के विभिन्न हिस्सों से भक्त देवी की कृपा पाने के लिए कई चढ़ावा अर्पित कर सकते हैं। यह उत्सव तीनों दिन (22 मार्च, 14 और 15 अप्रैल) खुला रहेगा।

Read More

देवी की कृपा प्राप्त करके नये साल की शुरुआत करें

तारीखनये साल का त्यौहार - राज्यअर्पण
22 मार्चउगादी - कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश
गुड़ी पड़वा - महाराष्ट्र, गोवा और दमन (केंद्र शासित प्रदेश)
नवरेह - कश्मीर
चेटीचंड - सिंधी नव वर्ष
चैत्र शुक्लादि - उत्तर भारत के प्रमुख राज्यों में
साजिबु चेरोबा -मणिपुर
देवी अभिषेकम् - रु. 330
14 अप्रैलपुतांडु - तमिलनाडु
बैसाखी - पंजाब
बोहाग बिहू - असम
बिविसागु — बोडोलैंड
पाना संक्रांति – उड़ीसा
बिसु परबा - कर्नाटक का तुलुनाडु और केरल
जूर सीताल - बिहार और झारखंड
बुसू- त्रिपुरा
बिझू - मिज़ोरम, अरुणाचल प्रदेश के हिस्सों में, त्रिपुरा और असम
सांगकेन - अरुणाचल प्रदेश और असम के कुछ हिस्सों में
नेपाल संबत - नेपाल
देवी अभिषेकम् - रु. 330
सुफला अर्पणम् - रु. 770
दीपम् अर्पणम् - रु. 770
15 अप्रैलविशु - केरल
पोहेला बैशाख - पश्चिम बंगाल
देवी अभिषेकम् - रु. 330

देवी अभिषेकम्

देवी की कृपा पाने के लिए 11 भेंटों का अर्पण।

दीपम् अर्पणम्

देवी की कृपा से नये साल को रोशन करने के लिए घी के दीपक अर्पित करें।

सुफल अर्पणम्

फल जीवन की सम्पूर्णता का प्रतिनिधित्व करते हैं। देवी की कृपा अर्जित करने के लिए फल चढ़ाएं।

देवी की कृपा में लीन हो जाएंx`

देवी की उपस्थिति अनुभव करने के लिए, आप विशेष देवी अभिषेकम् भी देख सकते हैं (14 अप्रैल, शाम 6:30 से 8:00 बजे तक)। यह अभिषेकम् लिंग भैरवी से लाइव प्रसारित किया जाएगा।

लाइवस्ट्रीम देखने के लिए रजिस्टर करें।

संपर्क करें

ईमेल: lb.events@lingabhairavi.org

फोन: +91 83000 83111

Previous Celebrations

yyyyy
 
Close