चंद्र हिंदू नव वर्ष

देवी की कृपा पाएं
2, 13, 14, 15 और 16 अप्रैल 2022 को विशेष अर्पण भेंट करके, अपनी सम्पूर्ण खुशहाली के लिए देवी की कृपा प्राप्त करके नये साल की शुरुआत करें।

लाइवस्ट्रीम के लिए रजिस्टर करें

 

चंद्र हिंदू नव वर्ष

देवी की कृपा पाएं
2, 13, 14, 15 और 16 अप्रैल 2022 को विशेष अर्पण भेंट करके, अपनी सम्पूर्ण खुशहाली के लिए देवी की कृपा प्राप्त करके नये साल की शुरुआत करें।

लाइवस्ट्रीम के लिए रजिस्टर करें

seperator
 

“चंद्र कैलेंडर में नया साल जीवन के नये चक्र का प्रतीक है। खुद को अर्पित कर देने से जीवन को नई ऊर्जा और शक्ति से भरना आसान हो जाता है। देवी और उनकी कृपा के साथ जुड़ने के लिए वसंत विषुव (दिन और रात के बराबर होने का दिन) के बाद का समय सबसे अच्छा होता है।
– सद्‌गुरु

चंद्र हिंदू नव वर्ष न केवल सांस्कृतिक रूप से, बल्कि वैज्ञानिक रूप से भी बहुत महत्वपूर्ण है, क्योंकि इसे धरती, सूर्य और चंद्रमा के बीच संबंध और मानव प्रणाली पर इसके असर को ध्यान में रखकर तय किया गया है। इसलिए नये साल की तारीखें खेती के नये मौसम की शुरुआत और वसंत के स्वागत के हिसाब से तय की गई थीं - 1 जनवरी को नया साल नहीं माना जाता था।

भारत में, हर क्षेत्र में चंद्र हिंदू नव वर्ष मनाने का एक अनूठा तरीका है। लिंग भैरवी में आयोजित इस उत्सव के एक हिस्से के रूप में, देश के विभिन्न हिस्सों से भक्त देवी की कृपा पाने के लिए कई भेंटें अर्पित कर सकते हैं। यह उत्सव के सभी पांच दिनों (2 अप्रैल, 13, 14, 15 और 16 अप्रैल) को खुला रहता है।

 

देवी की कृपा प्राप्त करके नये साल की शुरुआत करें

seperator
तारीख
नये साल का त्यौहार - राज्य
अर्पण
2 अप्रैल
सजिबू चीराओबा - मणिपुर
उगादी - कर्नाटक, तेलंगाना और आंध्र प्रदेश
गुड़ी पड़वा - महाराष्ट्र, गोवा और दमन (केंद्र शासित प्रदेश)
नवरेह - कश्मीर
चेटी चंड - राजस्थान
चैत्र शुक्लादी - उत्तर भारत के प्रमुख राज्य
देवी अभिषेकम् - रु. 330
13 अप्रैल
बुइसु - त्रिपुरा
बिझू - मिज़ोरम, अरुणाचल प्रदेश, त्रिपुरा और असम
सांगकेन - अरुणाचल प्रदेश और असम के कुछ हिस्सों
देवी अभिषेकम् - रु. 330
14 अप्रैल
बैसाखी - पंजाब
पुतांडु - तमिलनाडु
बोहाग बिहू - असम
बिविसागु — बोडोलैंड
पाना संक्रांति – उड़ीसा
बिसु परबा - कर्नाटक का तुलुनाडु और केरल
जूर सीताल - बिहार और झारखंड
देवी अभिषेकम् - रु. 330
सुफला अर्पणम् - रु. 770
दीपम् अर्पणम् - रु. 770
15 अप्रैल
विशु - केरल
पोहेला बैशाख - पश्चिम बंगाल
देवी अभिषेकम् - रु. 330
16 अप्रैल
चित्र पूर्णिमा
देवी अभिषेकम् - रु. 330
तारीख
नये साल का त्यौहार - राज्य
अर्पण
2 अप्रैल
उगादी, गुड़ी पड़वा, नवरेह, चेटी चंड, चैत्र शुक्लादी, साजिबु चीरोबा
देवी अभिषेकम् - रु. 330
13 अप्रैल
बुइसु, संगकेन
देवी अभिषेकम् - रु. 330
14 अप्रैल
बैसाखी, पुतांडु, बोहागी बिहू, ब्विसगु, पान संक्रांति, बिसु परबा, जूरी सीताल
देवी अभिषेकम् - रु. 330
सुफला अर्पणम् -
रु. 770
दीपम् अर्पणम् - रु. 770
15 अप्रैल
विशु, पहेला बैशाख
देवी अभिषेकम् - रु. 330
16 अप्रैल
चित्र पूर्णिमा
देवी अभिषेकम् - रु. 330

 

Devi Abhishekam

देवी अभिषेकम्

देवी की कृपा पाने के लिए 11 भेंटों का अर्पण।
deepam arpanam

दीपम् अर्पणम्

देवी की कृपा से नये साल को रोशन करने के लिए घी के दीपक अर्पित करें।
Suphala Arpanam

सुफल अर्पणम्

फल जीवन की सम्पूर्णता का प्रतिनिधित्व करते हैं। देवी की कृपा अर्जित करने के लिए फल चढ़ाएं।

देवी की कृपा में लीन हो जाएं

seperator
देवी की उपस्थिति में प्रवेश करने के लिए, आप विशेष चित्र पूर्णिमा अभिषेकम् भी देख सकते हैं (16 अप्रैल, शाम 5:40-6:50 [भारतीय समय]) । यह अभिषेकम् लिंग भैरवी से लाइव प्रसारित किया जाएगा।
लाइवस्ट्रीम देखने के लिए रजिस्टर करें।

संपर्क करें

seperator
ईमेल: lb.events@lingabhairavi.org
फोन: +91 83000 83111