अगर आप अपने खर्राटे बंद नहीं कर पा रहे, या आप की नाक लगातार बंद रहती है - तो सदगुरु के ये 5 सूत्र आप को आसानी से सांस लेने और बेहतर नींद लेने में मदद करेंगे।

# 1. अपने लेटने की मुद्रा को पर ध्यान दें

सद्‌गुरु : आपको देखना चाहिये कि आप सोते समय कैसे लेटते हैं। वे लोग जो खर्राटे भरते हैं, अधिकतर पीठ के बल सोते हैं। अगर आप एक करवट पर सोयें तो यह बंद हो सकता है। अगर आप पेट की नसें (गट) कसने के ऊपर काम करें तो भी खर्राटे रुक सकते हैं।

# 2. सोने से पहले थोड़ा शहद लें

एक और काम जो आप कर सकते हैं - वह यह है कि सोने से पहले अगर आप शहद की कुछ बूंदें मुंह में रख कर सोते हैं, तो खर्राटे बन्द हो सकते हैं।

honey

# 3. बन्द नाक को खोलने के लिये घी का प्रयोग

सोने से पहले अपनी नाक साफ करें और जितना हो सके, इसे खाली कर लें, जिससे खर्राटे देर रात में शुरू हों। अगर ऐसा नहीं है, आप की नाक बहुत ही बंद रहती है तो आप घी का प्रयोग कर सकते हैं। अगर आप मक्खन को एक सीमा से ज्यादा गर्म करें तो ठंडा होने पर ये मक्खन नहीं रहेगा, ये घी अथवा स्वच्छ मक्खन बन जायेगा। अगर आप दो बूंद गरम घी सोने से पहले अपनी नाक में डालते हैं तो इसका आप पर एक ख़ास असर होगा, ये नाक में सांस लेने के मार्ग को चिकना बनाएगा और सुबह आप अपनी नाक को ज्यादा अच्छी तरह साफ कर सकेंगे।

Subscribe

Get weekly updates on the latest blogs via newsletters right in your mailbox.
ghee

वे लोग जो खर्राटे भरते हैं, अधिकतर पीठ के बल सोते हैं। अगर आप एक करवट पर सोयें तो यह बंद हो सकता है।

अथवा एक और सरल उपाय है। आजकल दवा की दुकान पर नाक के लिये सेलाइन स्प्रे मिलते हैं, जिनमें और कुछ नहीं, शुद्ध खारा जल होता है। आप इसे नाक के अंदर छिड़क सकते हैं। यह भी नाक के मार्ग को कुछ हद तक स्वच्छ करता है। अगर आप की नाक लगातार बन्द रहती है तो यह सिर्फ सांस लेने पर ही असर नहीं करती बल्कि आपके शरीर पर अन्य प्रकारों से भी खराब असर करती है। इसलिये यह ज़रूरी है कि आपके सांस लेने का मार्ग खुला हुआ रहे। आप के अस्थि रंध्र(साइनस) कितने खुले व स्वच्छ हैं और शरीर के द्रव(शरीर में घूमने वाले लिक्विड) कितने अच्छी तरह संतुलित हैं, खास कर के सिर के भाग के - इस पर कई बातें निर्भर करती हैं, जैसे आप के दिमाग का कार्य करना, आप की खुशहाली, आप का संतुलन, आप की बुद्धि की तीव्रता एवं आप की 5 ज्ञानेन्द्रियों(देखने, सुनने, चखने, छूने और सूँघने की काबिलियत) की तीव्रता। अगर आप के लिये बन्द नाक एक जबरदस्त समस्या है जो आप को रोज परेशान कर रही है तो आप कुछ और बातें कर सकते हैं:

# 4. तेज़ जॉगिंग करें

रोज जॉगिंग करना शुरू कीजिये, कम से कम 5 से 10 मिनट तक। यदि आप एक ही स्थान पर, मुंह बंद कर के, जॉग करेंगे तो भी बंद नाक स्वच्छ हो सकती है।

jogging

# 5. जल नेती

अगर आप की नाक की हालत बहुत ही खराब है जो उनमें से किसी भी तरीके से साफ नही हो रही - तो एक क्रिया है जिसे जल नेती कहते हैं, लेकिन इसके लिये कुछ तैयारी की जरूरत होती है। कुछ स्टूडियोज़ में यह बिना किसी तैयारी के सिखाते हैं, लेकिन अपनी नाक में बस ऐसे ही पानी उड़ेल देना कोई बुद्धिमानी नहीं है। यह क्रिया सही ढंग से सिखाई जानी चाहिए। जरुरी हो तो हमारे हठ योग के शिक्षक आप को यह सिखा सकते हैं।

jal neti

सम्पादकीय टिप्पणी : क्या आप को अक्सर बंद अस्थि रंध्र (साईनस) और छाती में भारीपन की शिकायत रहती है ? सदगुरु समझा रहे हैं कि क्यों आपके अस्थि रंध्र(साईनस) स्वच्छ, संतुलित होने चाहिये और कैसे शक्तिशाली यौगिक क्रियाओं और खानपान में कुछ परिवर्तन के साथ आप ये कर सकते हैं। पूरा लेख पढ़ कर ज्यादा जानकारी प्राप्त करें।