महाशिवरात्रि

एक रात शिव के साथ
18 फरवरी 2023, शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक
ईशा योग केंद्र से सीधा प्रसारण
Loading...
00दिन
00घंटे
00मिनट

महाशिवरात्रि

18 फरवरी 2023
ईशा योग केंद्र

महाशिवरात्रि भारत के पवित्र त्यौहारों में से एक बहुत बड़ा और सबसे महत्वपूर्ण उत्सव है। साल की इस सबसे अंधेरी रात को शिव की कृपा का उत्सव मनाया जाता है। शिव को आदि गुरु या प्रथम गुरु माना जाता है, और उन्हीं से यौगिक परंपरा की शुरुआत हुई थी। इस रात को ग्रहों की स्थिति ऐसी होती है कि ये मानव शरीर में ऊर्जा को शक्तिशाली ढंग से ऊपर की ओर ले जाती है। इस रात रीढ़ को सीधा रखकर जागृत और सजग रहना हमारी शारीरिक और आध्यात्मिक खुशहाली के लिए बहुत ही लाभदायक है।

इस वर्ष महाशिवरात्रि महोत्सव में आने के लिए टिकट खरीदना होगा और इस महोत्सव में काफी हद तक ध्यान की प्रक्रियाएं ही होंगी। एक गहरा आध्यात्मिक अनुभव पाने के लिए किसी भी श्रेणी में अपनी सीटें बुक करें।

Mahashivratri

2023

महाशिवरात्रि समारोह के मुख्य हिस्से

महाशिवरात्रि एक शानदार रात्रि उत्सव है, जिसमें सद्‌गुरु द्वारा विस्फोटक ध्यान और प्रसिद्ध कलाकारों द्वारा शानदार संगीत प्रदर्शन होते हैं। इस वर्ष के महाशिवरात्रि ऑनलाइन उत्सव में शामिल हों।

Explosive-guided-meditations

विस्फोटक निर्देशित ध्यान

(सद्गुरु के साथ)

Nightlong-special-musical-performances

रात में विशेष संगीत प्रस्तुतियाँ

प्रख्यात कलाकारों द्वारा

Traditional-and-Martial-Arts-performances

पारंपरिक प्रस्तुतियां और मार्शल आर्ट्स का प्रदर्शन

ईशा संस्कृति के छात्रों द्वारा

Adiyogi-Divya-Darshanam

आदियोगी
दिव्य दर्शनम

( योग के मूल को दर्शाता एक शानदार प्रकाश और ध्वनि शो)

लाभ

महाशिवरात्रि के

महाशिवरात्रि हमें प्रकृति की शक्तियों का हमारे भलाई के लिए उपयोग करने का एक अनूठा अवसर प्रदान करती है। ईशा योग केंद्र में पूरी रात चलने वाला महाशिवरात्रि त्योहार एक गहरे आध्यात्मिक अनुभव के लिए आदर्श माहौल तैयार करता है।

ग्रहों की

स्थिति

महाशिवरात्रि पर ग्रहों की अनूठी स्थिति के कारण मानव शरीर के अंदर ऊर्जा कुदरती तौर पर ऊपर की ओर बढ़ती है।

हिस्सा

लेने के तरीके
ईशा योग केंद्र

ईशा योग केंद्र

आकर हिस्सा लें
ईशा योग केंद्र में मनाया जाना वाला महाशिवरात्रि महोत्सव, एक उल्लास से भरपूर रात भर चलने वाला उत्सव है। ईशा योग केंद्र, आत्म-रूपांतरण का एक शक्तिशाली स्थान है।
और अधिक जानें >
सीधा प्रसारण

सीधा प्रसारण

isha.sadhguru.org पर
रात के प्रदर्शन देखें और हमारी वेबस्ट्रीम के माध्यम से लाइव ध्यान में भाग लें।
और अधिक जानें >
टीवी

टीवी

भारत के प्रमुख टीवी चैनल
आप हमारे सहयोगियों के माध्यम से टेलीविजन पर कार्यक्रम को लाइव भी देख सकते हैं।
और अधिक जानें >
rudraksha-diksha

सद्गुरु द्वारा महाशिवरात्रि के दिन ऊर्जावान बनाए गए रुद्राक्ष निःशुल्क भेंट किए जा रहे हैं। घर लाएं आदियोगी शिव की कृपा।

घर पर प्राण-प्रतिष्ठित रुद्राक्ष निःशुल्क प्राप्त करें
अधिक जानकारी
annadanam

ईशा योग केंद्र आकर हमसे जुड़ें

यक्ष

देश की ललित कलाओें की विशेषता और शुद्धता को बनाए रखने और उनकी विविधता को प्रोत्साहित करने की कोशिश के अंतर्गत, ईशा फाउंडेशन में हर साल तीन दिवसीय उत्सव ‘यक्ष’ का आयोजन किया जाता है। इस उत्सव में प्रसिद्द कलाकारों द्वारा संगीत और नृत्य की प्रस्तुतियों दी जाती हैं।
और अधिक जानें >

महाशिवरात्रि का महत्व

18 फरवरी , 2023
महाशिवरात्रि ईशा योग केंद्र में रात भर चलने वाला एक उल्लासमय उत्सव है, जिसमें विस्फोटक ध्यान प्रक्रियाएं और मशहूर कलाकारों की भव्य संगीतमय प्रस्तुतियां होती हैं। इस उत्सव में लाखों लोग शामिल होते हैं।
और अधिक जानें >

इस शुभ रात के लिए खुद को तैयार करें

महाशिवरात्रि साधना

महाशिवरात्रि के दौरान महाशिवरात्रि साधना आपकी ग्रहणशीलता को बढ़ाने वाली एक शक्तिशाली साधना है - यह रात जबरदस्त संभावनाओं वाली रात है। सात वर्ष से अधिक आयु का कोई भी व्यक्ति यह साधना कर सकता है।

Partners

Elite Partner

Co-Partners

Support Partners