प्रस्तुतियां

प्रसिद्ध कलाकारों के संगीत, नृत्य और सांस्कृतिक प्रदर्शन आपको रात भर जागृत और जीवंत बनाए रखेंगे, ताकि आप इस शुभ रात की संभावनाओं से लाभ उठा से।

मंगली

मंगली एक भारतीय गायक, टेलीविजन एंकर और अभिनेत्री हैं। साल 2013 में अपने पहले ब्रेक के बाद से, उनकी गायन, विशेष रूप से तेलुगु गायन की वजह से – उनके फैन्स की संख्या बहुत बड़ गई है। त्योहारों पर भारत और विदेशों में उन्हें यूट्यूब पर लाखों लोगों द्वारा देखा जाता है।

ईशा संस्कृति

ईशा संस्कृति, प्रतिभा तैयार करने का एक अनूठा स्थान है, जहां बच्चे 6 साल की उम्र से जुड़ते हैं, और अपनी पसंदीदा कला के लिए कम से कम 12 साल समर्पित करते हैं। इस प्रशिक्षण ने नृत्य संगीत और योग के शास्त्रीय रूपों को गहराई से समझने की ज्वलंत इच्छा रखने वालों का एक समूह तैयार किया है। ईशा संस्कृति नृत्य और गायन की शक्ति और बारीकियों को उजागर करती है, जो इन कलाकारों की प्रस्तुतियां देखने वालों पर एक गहरा असर छोडती हैं।

नीरज आर्य का कबीर कैफे

नीरज आर्य का कबीर कैफे – एक नियो-फोक फ्यूजन बैंड है, जो 15वीं शताब्दी के भारतीय रहस्यवादी संत कबीर से प्रेरित संगीत रचता है। उनका संगीत रॉक, रेगे, पॉप और कर्नाटक संगीत का मेल है। इस बैंड का मानना ​​है, हर इंसान, हर हाल में अपनी गहराई में अध्यात्मिक है – और इसीलिए उनका संगीत जीवित है।

कुतले खान प्रोजेक्ट

कुतले खान प्रोजेक्ट, कुतले खान की ऐसी यात्रा है, जो उन्हें सीमाओं से परे ले जाती है। वे राजस्थानी लोक संगीत के साथ दुनिया भर की संगीत शैलियों का मिश्रण करते हैं – और उन्होंने साल 2015 में गीमा अवार्ड और साल 2019 में सर्वश्रेष्ठ लोक गायक सहित कई पुरस्कार अर्जित किए हैं।

तमिलनाडु के तप्पु लोक ढोल-वादक

तप्पट्टम तमिलनाडु की एक लोक कला है, जिसमें कलाकार नाचते भी हैं, और वाद्य यंत्र भी बजाते हैं। कहा जाता है कि तप्पु, तमिलों द्वारा विकसित पहला उपकरण था, और ये उन पहले वाद्य यंत्रों में से एक था जिनका इस्तेमाल मुख्य रूप से पूजा के लिए किया जाता था।

साउंड्स ऑफ़ ईशा

‘साउंड्स ऑफ़ ईशा ‘ – सद्गुरु की कृपा को संगीतमय तरीके से व्यक्त करने की इच्छा से प्रेरित अप्रशिक्षित संगीतकारों का एक ग्रुप है। साउंड्स ऑफ़ ईशा का काम, इस ग्रुप के संगीतकारों की तरह ही विविधता से भरपूर है। यह सभी कालाकार ईशा फाउंडेशन के पूर्ण कालिक स्वयंसेवक हैं, और इनके प्रेरणादायक गीत, फाउंडेशन के कार्य के अलग आयाम को साझा करने की इच्छा का नतीजा हैं। वैसे तो इन गीतों का संगीत हमें शांति और ऊर्जा प्रदान करता है, पर हमारे भीतर छुपे शाश्वत मौन को उजागर करना ही इन गीतों की असली शक्ति है।

संदीप नारायण

संदीप नारायण एक कर्नाटक शास्त्रीय गायक हैं जो शास्त्रीय कला को समकालीन रूप से प्रस्तुत करने के लिए जाने जाते हैं। उन्हें 2019 में उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार, और 2017 में द म्यूजिक एकेडमी मद्रास द्वारा “बेस्ट रागम-तानम-पल्लवी पुरस्कार” सहित कई पुरस्कार मिल चुके हैं।

पार्थिव गोहिल

बॉलीवुड और गुजराती संगीत उद्योगों में अपने काम के लिए मशहूर पार्थिव गोहिल एक बहुत ही बहुमुखी कलाकार हैं। गोहिल ने पंडित हरिप्रसाद चौरसिया, उस्ताद सुल्तान खान और गुंडेचा भाईयों जैसे गुरुओं से संगीत सीखा है; साथ ही उन्होंने इस्माइल दरबार, मोंटी शर्मा, लेस्ली लेविस जैसे समकालीन संगीतकारों से भी संगीत सीखा है। वे शास्त्रीय राग और भारत पॉप की धुनें – दोनों ही आसानी से गा लेते हैं।

साउंड्स ऑफ़ ईशा – एंथोनी दासन

एंथोनी दासन एक भारतीय प्ले बेक सिंगर, लोक गायक, गीतकार और संगीतकार हैं जो देहाती लोक शैलियों और प्रयोगात्मक समकालीन शैलियों का मिश्रण प्रस्तुत करते हैं। इन्होंने एमटीवी कोक स्टूडियो इंडिया 2012 में हिस्सा लिया था और वे एआर रहमान सहित प्रमुख रचनाकारों के साथ काम कर चुके हैं।

detail-seperator-icon

पिछला प्रदर्शन

Amit-Trivedi

Amit Trivedi

Hariharan

Hariharan

Karthik

Karthik

Sonu Nigam at Mahashivratri 2018 Celebrations at Isha Yoga Center

Sonu Nigam (Special Guest Performance)

Daler Mehndi at Mahashivratri 2018 Celebrations at Isha Yoga Center

Daler Mehndi

Sean Roldan and Friends at Mahashivratri 2018 Celebrations at Isha Yoga Center

Sean Roldan and Friends

detail-seperator-icon