seperator

“पूर्णिमा की रात में, बाहरी और भीतरी ऊर्जाएं ऊंचे स्तर पर होती हैं। इस ऊर्जा से सेहत, आनंद और सफलता प्राप्त करने के तरीके मौजूद हैं। “ - सद्गुरु

जो लोग आध्यात्मिक मार्ग पर हैं, उन्हें पूर्णिमा की रात ध्यान करने में मदद करती हैं, क्योंकि प्रकृति आपको ऊर्जा उपलब्ध कराती है। 28 मार्च 2021 से लेकर अगली 12 पूर्णिमाओं तक, सद्गुरु एक सत्संग भेंट करेंगे, जिससे पूरे विश्व के साधकों को पूर्णिमा की ऊर्जा अपने भीतर उतारने का मौक़ा मिलेगा।  

यह सत्संग एक ज़बरदस्त संभावना है, जिसके माध्यम से हर पूर्णिमा आपकी परम प्रकृति की ओर ले जाने वाली सीढ़ी बन सकती है।

buring questions
 
अपने प्रश्नों के उत्तर पाएं
meditations
 
शक्तिशाली ध्यान प्रक्रिओं में हिस्सा लें
satsang
 
एक जीवित गुरु के सान्निध्य में जीवन के गहरे आयामों की खोज करें

कुछ ज़रूरी जानकारी

seperator
  • रजिस्ट्रेशन निशुल्क है, और ज़रूरी है।
  • यह सत्संग 12 पूर्णिमाओं पर होंगे, और 28 मार्च से शुरू होंगे।
  • हर सत्संग शाम 7 बजे शुरू होगा। शाम 7 बजे का समय इन टाइमज़ोन्स के हिसाब से होगा – आईएसटी, सीईटी, पीटी और ईटी। 
  • 1.5 से 2 घंटे तक का समय, पूरी तरह से इस सत्संग के लिए समर्पित करने की तैयारी करें।
  • यह सत्संग हर उम्र के व्यक्ति के लिए उपलब्ध है, उम्र की कोई सीमा नहीं है। 
  • इस सत्संग में हिस्सा लेने से पहले, ईशा योग कार्यक्रमों में हिस्सा लेना ज़रूरी नहीं है। 

निशुल्क रजिस्टर करें

सत्संग का सबसे ज़्यादा लाभ कैसे उठाएं?

seperator

कुछ दिशा-निर्देश नीचे दिए गए हैं, जिनका पालन करके आप ज़्यादा ग्रहणशील बन सकते हैं, और इस अवसर का भरपूर लाभ उठा सकते हैं:

  • इस सत्संग को पूरी समग्रता के साथ अनुभव करना ज़रूरी है। कृपया यह 1.5 से 2 घंटे, सिर्फ़ इसी उद्देश्य के लिए विशेष रूप से समर्पित करें, और सुनिश्चित करें कि इन डेढ़ से दो घंटों में, कोई रुकावट (जैसे रेस्टरूम जाना, फोन पर बात करना, मेसेज चेक करना) न हो।
  • यह सुनिश्चित करें, कि आपके पास एक स्थिर इन्टरनेट कनेक्शन है।
  • डेस्कटॉप या लैपटॉप के माध्यम से जुड़ना सबसे अच्छा होगा।
  • कृपया सत्संग की शुरुआत के समय से कम से कम 15 मिनट पहले लॉग इन करें, ताकि आप समय पर हिस्सा ले सकें। सत्संग शुरू होने के बाद जुड़ने वालों को, हम शायद इस सत्संग में शामिल नहीं कर पाएंगे।
  • कृपया सुनिश्चित करें कि आपका पेट भरा हुआ नहीं है (भोजन के बाद कम से कम 2.5 घंटे का अंतर होना चाहिए), और सत्संग के दौरान कुछ भी न खाएं।
  • आप एक तेल का दीपक जलाकर एक मददगार वातावरण बना सकते हैं (पर ऐसा करना ज़रूरी नहीं है)।
  • फर्श पर बैठना सबसे अच्छा है। अगर यह संभव नहीं है, तो आप कुर्सी पर बैठ सकते हैं।

आगामी सत्संग

seperator

मार्च 2021 से, सद्गुरु हर पूर्णिमा के दिन सत्संग भेंट कर रहे हैं। आगामी सत्संगों की तारीखें नीचे दी गई हैं।

20 अक्टूबर 2021

18 नवंबर 2021

● 18 दिसंबर 2021

FAQ

seperator

सत्संग में भाग लेने से पहले , कृपया सुनिश्चित करें कि आपका पेट थोड़ा खाली (भोजन करने के बाद कम से कम 2.5 घंटे का अंतराल होना चाहिए)।

सत्र शुरू होने से पहले कभी भी आप पानी पी सकते हैं।

सत्संग के दौरान कुछ भी खाने या पीने से परहेज करें।

नहीं, यह ज़रूरी नहीं है।

यहां कुछ सुझाव दिए गए हैं जो आपकी ग्रहणशीलता को बढ़ाएंगे और आपको इस अवसर का बेहतरीन उपयोग करने में मदद करेंगे:

कृपया सत्संग के लिए विशेष रूप से 1.5-2 घंटे समर्पित करें, और यह सुनिश्चित करें कि पूरी अवधि के दौरान कोई भी गड़बड़ी या रुकावट न हो (जैसे टॉयलेट का उपयोग करना, कॉल लेना या फोन पर मेसेज की जांच करना)।

सत्संग शुरू होने से पहले कम से कम 15 मिनट पहले लॉग इन करें। सत्संग शुरू होने के बाद आप इसमें शामिल नहीं हो पाएंगे।

आप चाहें तो तेल का दीपक या मोमबत्ती जला सकते हैं।

यदि संभव हो, तो फर्श पर बैठना सबसे अच्छा है। यदि नहीं, तो आप एक कुर्सी पर बैठ सकते हैं।

सद्गुरु पूर्णिमा सत्संग निशुल्क भेंट कर रहे हैं।

यह महत्वपूर्ण है कि सत्संग को पूरी समग्रता के साथ बिना किसी रुकावट या विक्षेप के अनुभव किया जाए। इसलिए, व्यक्तिगत रूप से इसमें भाग लेना सबसे अच्छा है। हालांकि, यह ज़रूरी नहीं है।

यदि आपके परिवार के सदस्य आपके साथ सत्संग में हिस्सा लेने वाले हैं, तो सुनिश्चित करें कि वे व्यक्तिगत रूप से सत्संग से गुजरने के लिए पूरी तरह से प्रतिबद्ध हैं, और सत्संग के दौरान आपको उनपर ध्यान देने की ज़रूरत नहीं होगी।

नहीं। सद्गुरु ने निर्देश दिए हैं, कि आप अपने स्थानीय समय में शाम 7 बजे के करीब सत्संग में शामिल हों।

सत्संगों में शामिल होने के लिए ऐसी कोई सलाह नहीं है। यह आप पर निर्भर है।

इसमें शामिल होने के लिए उम्र से जुड़ा कोई प्रतिबंध नहीं हैं।

हाँ, वे भाग ले सकती हैं।

हाँ। जो ध्यान सत्संग में कराए जाएंगे, उन्हें करने के लिए किसी तरह की शारीरिक क्षमता या योग अभ्यास के पहले के अनुभव की आवश्यकता नहीं है।

सत्संग के लिए रजिस्टर करने के लिए कृपया इस लिंक पर जाएँ। "रजिस्टर फॉर फ्री" बटन पर क्लिक करें और अपनी ईशा प्रोफाइल का उपयोग करके लॉग इन करें। अगर आपके पास ईशा प्रोफ़ाइल नहीं है, तो आप प्रोफ़ाइल बनाने के लिए "साइन अप" पर क्लिक कर सकते हैं। फिर, रजिस्ट्रेशन फॉर्म भरें और "कम्पलीट रजिस्ट्रेशन" बटन पर क्लिक करें। रजिस्ट्रेशन होने के बाद, आपको एक कन्फर्मेशन ईमेल प्राप्त होगा।

सत्संग में शामिल होने के लिए रजिस्ट्रेशन ज़रूरी है।

हालांकि, यह ज़रूरी नहीं है, कि आपके किसी ईशा योग कार्यक्रम में पहले हिस्सा लिया हो।

हाँ। सत्संग का लाइवस्ट्रीम हिंदी, तमिल, रूसी, फ्रेंच, जर्मन, अरबी, मेंडेरिन, तेलुगु, कन्नड़ और स्पैनिश में उपलब्ध होगा। इन अनुवादों की उपलब्धता समयक्षेत्र के हिसाब से अलग-अलग हो सकती है।

अगर आपने पहले ही रजिस्ट्रेशन फॉर्म जमा कर दिया है और कन्फर्मेशन ईमेल प्राप्त नहीं किया है, तो कृपया अपने स्पैम / प्रचार / दूसरे फ़ोल्डर की जाँच करें। अगर आप अभी भी इसे खोजने में असमर्थ हैं, तो कृपया अपने रजिस्टर्ड ईमेल पते से सहायता टीम को अपनी जानकारी भेजें। अपने क्षेत्र की सहायता टीम की संपर्क जानकारी खोजने के लिए, यहाँ क्लिक करें।

आपको केवल एक बार रजिस्टर करना होगा। हर महीने, आपको सत्संग की जानकारी के साथ एक ईमेल प्राप्त होगा, जिसके माध्यम से आपको सत्संग के बारे में याद दिलाया जाएगा।

यदि आपने पहले ही रजिस्टर कर लिया है, लेकिन लॉग इन करने में असमर्थ हैं, तो कृपया लॉग इन करने के लिए अपने रजिस्टर्ड ईमेल पते का उपयोग करना सुनिश्चित करें। यदि आप अभी भी लॉग-इन करने में असमर्थ हैं, तो कृपया अपने रजिस्टर्ड ईमेल पते से सहायता टीम को अपना विवरण भेजें। अपने क्षेत्र की सहायता टीम की संपर्क जानकारी खोजने के लिए, यहाँ क्लिक करें।

"ज्वाइन" बटन केवल प्रत्येक सत्र की शुरुआत से 30 मिनट पहले सक्रिय किया जाएगा।

कृपया लॉग इन करने के लिए इस लिंक पर जाएँ। पेज के ऊपरी दाएं कोने पर "सेटिंग" पर क्लिक करें। आपको अपनी पसंदीदा भाषा को चुनने का विकल्प दिखाई देगा।

सत्संग शुरू होने से कम से कम 15 मिनट पहले लॉग इन करना सुनिश्चित करें ताकि आप समय पर शुरू करने के लिए तैयार हों। सत्र शुरू होने के बाद, हो सकता है कि आपको शामिल होने की अनुमति न दी जाए।

आप अगले उपलब्ध सत्र में बदल सकते हैं। कृपया इन चरणों का पालन करें:

लॉग इन करने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें।

पेज के ऊपरी दाएं कोने पर "सेटिंग" पर क्लिक करें।

अपने स्थानीय समय में शाम 7 बजे के करीब सत्संग में हिस्सा लेना सबसे अच्छा है।

कृपया लॉग इन करने के लिए इस लिंक पर जाएँ। पेज के ऊपरी दाएं कोने पर "सेटिंग" पर क्लिक करें। आपको अपना पसंदीदा समय और भाषा बदलने का विकल्प दिखाई देगा।

कृपया ध्यान दें कि सभी भाषाएँ सभी टाइमज़ोन में उपलब्ध नहीं हैं।

हाँ आप कर सकते हैं। सत्संग में सद्गुरु ऐप के माध्यम से भी हिस्सा लिया जा सकता है।

सुनिश्चित करें कि आप वीडियो देखने के लिए जिस सिस्टम का उपयोग कर रहे हैं वह इंटरनेट से जुड़ा है। अगर आपके पास अच्छी कनेक्टिविटी है और आप फ़िर भी वीडियो शुरू करने में असमर्थ हैं, तो कृपया कैश साफ़ करें, लॉग आउट करें और फिर से लॉग इन करें। हम गूगल क्रोम ब्राउज़र का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

अधिकांश विंडोज सिस्टम पर, आप डेस्कटॉप पर कहीं भी राइट-क्लिक कर सकते हैं, "प्रॉपर्टीज़" पर क्लिक करें, फिर डायलॉग बॉक्स में सबसे ऊपर "स्क्रीन सेवर" टैब पर क्लिक करें। फिर आप अपनी स्क्रीनसेवर को निष्क्रिय/डिसेबल कर सकते हैं, या सेटिंग्स इस तरह से बदल सकते हैं ताकि यह सत्र की अवधि तक न आए।

अधिकांश मैक सिस्टम के लिए, एप्पल आइकन पर जाएं और "सिस्टम प्रैफरेंसेज" पर क्लिक करें। "हार्डवेयर" के तहत, "एनर्जी सेवर" पर क्लिक करें। फिर कंप्यूटर सेट करें और “1.5 घंटे या उससे अधिक” समय तक कंप्यूटर और डिस्प्ले के लिए स्लीप चुनें, या "कभी नहीं" चुनें।

सुनिश्चित करें कि आपका स्पीकर म्यूट नहीं किया गया है और स्पीकर पर वॉल्यूम स्तर पर्याप्त है। अगर ज़रूरी हो, तो आप "ऑडियो" या "स्पीकर" सेटिंग्स में अपने सिस्टम की ऑडियो सेटिंग्स की जांच कर सकते हैं।

बैंडविड्थ के उपयोग को कम करने के लिए आप वीडियो गुणवत्ता को कम रिज़ॉल्यूशन (240p या 144p) तक कम करने का प्रयास कर सकते हैं। रिज़ॉल्यूशन का चयन करने के लिए वीडियो के नीचे "सेटिंग" आइकन पर क्लिक करें। यदि इंटरनेट का उपयोग करने वाले कोई अन्य ऐप हैं, तो उन सभी को बंद कर दें। यदि एक ही इंटरनेट कनेक्शन का उपयोग करने वाले बहुत सारे लोग मौजूद हैं, तो यह उपरोक्त समस्या का कारण हो सकता है। यदि संभव हो, तो सुनिश्चित करें कि सिर्फ आप इन्टरनेट का उपयोग कर रहे हैं।

पेज को रिफ्रेश करें।

विंडोज या लिनक्स सिस्टम पर, "Ctrl" को दबाए रखें और "F5" पर क्लिक करें।

किसी मेक कंप्यूटर पर, ⌘ ( Cmd ) दबाकर, ⇧ (Shift) दबाएँ, और फिर “R" दबाएँ। यदि समस्या अभी भी बनी हुई है, तो सहायता टीम से संपर्क करें। अपने क्षेत्र की सहायता टीम की संपर्क जानकारी खोजने के लिए, यहाँ क्लिक करें।

यदि आप फोन का उपयोग कर रहे हैं, तो सत्र के दौरान वाई-फाई से कनेक्ट करना, और फोन को एयरप्लेन मोड पर रखना सबसे अच्छा है।

आप किसी भी लैपटॉप या डेस्कटॉप कंप्यूटर या मोबाइल डिवाइस का उपयोग कर सकते हैं। अगर आप फोन का उपयोग कर रहे हैं, तो सत्र के दौरान वाई-फाई से कनेक्ट करना, और फोन को एयरप्लेन मोड पर रखना सबसे अच्छा है।

कृपया सुनिश्चित करें कि प्रोग्राम के लिए आपके द्वारा उपयोग किए जाने वाले डिवाइस को प्रोग्राम की पूरी अवधि के लिए चार्ज पर रखा गया है।

इंटरनेट आवश्यकताएँ: पूरे कार्यक्रम के लिए पर्याप्त बैंडविड्थ (500 केबीपीएस) और 0.5-1 जीबी के इंटरनेट डेटा के साथ एक स्थिर इंटरनेट का उपयोग ज़रूरी है। एक वाई-फाई या वायर्ड इंटरनेट कनेक्शन की सलाह दी जाती है। हम गूगल क्रोम ब्राउज़र का इस्तेमाल करने की सलाह देते हैं।

हां, सभी सत्र फुल स्क्रीन में देखे जा सकते हैं। जब आप एक वीडियो देखना शुरू करते हैं, तो नीचे दिए फुल स्क्रीन विकल्प पर क्लिक करें।, click r.

पूर्णिमा सत्संगों की प्रकृति और उनमें शामिल ध्यान को देखते हुए, हम ऑफ़लाइन रिकॉर्डिंग भेंट नहीं करेंगे। आगामी सत्रों की तारीखों को समय से पहले घोषित किया जाएगा ताकि आप सत्संग में उपस्थित होने के लिए आवश्यक व्यवस्था कर सकें।

सत्संगों की इस श्रृंखला द्वारा प्रस्तुत की जाने वाली संभावनाएं सबसे अच्छी तरह से तब अनुभव की जा सकती हैं, जब आप सभी सत्संगों में भाग लेते हैं। हालाँकि, एक सत्संग में हिस्सा न लेने के बावजूद, आप बाकी के सत्संगों में शामिल हो सकते हैं।

आप सत्संग से पहले, रजिस्ट्रेशन के दौरान अपने ज्वलंत प्रश्नों को साझा कर सकते हैं।

यह सत्संग, सद्गुरु के साथ होने का अवसर है, और सत्संगों के दौरान वे दुनिया भर से साधकों के लिए एक द्वार खोलते हैं, ताकि वे पूर्णिमा की रात की आध्यात्मिक संभावनाओं को अपने भीतर उतार सकें। ये सत्संग, हर पूर्णिमा की रात को अपने परम स्वरूप को जानने की दिशा में एक कदम बढ़ाने की अभूतपूर्व संभावना हो सकती है।

सद्‌गुरु इस लेख में हमारे जीवन में चंद्रमा की भूमिका और महत्व को बताते हैं: https://isha.sadhguru.org/in/hi/wisdom/article/poornima-dhyaan-is-din-sahaj-hee-hota-hai

यह सत्संग पूर्णिमा की ऊर्जा का अनुभव करने और उस पर सवारी करने का एक अवसर हैं।

हमसे संपर्क करें (जीओ-कोडिंग के आधार पर)