महामंत्र

सद्गुरु बता रहे हैं कि महामंत्र ‘ऊं नम: शिवाय’ को जपने का क्या अर्थ है और उसका जाप कैसे करें।
 
 
 
 

मिस्टिक मंत्र – ॐ नमः शिवाय

सद्‌गुरु:

दुनिया के अधिकांश आध्यात्मिक मार्गों में एक उचित जागरूकता के साथ किसी मंत्र को दोहराना हमेशा सबसे मूलभूत साधना रही है। ज्यादातर लोग किसी मंत्र के बिना अपने अंदर ऊर्जा के सही स्तर तक पहुँचने में सक्षम नहीं होते। मुझे लगता है कि नब्बे फीसदी से अधिक लोगों को हमेशा खुद को जाग्रत करने के लिए एक मंत्र की जरूरत होती है। उसके बिना वे अपनी ऊर्जा को कायम नहीं रख पाते।

ईशा ब्लॉग पर पूरा लेख पढ़ें