MahaShivRatri 2019

Quote Spataro

‘मेरी कामना और मेरा आशीर्वाद है कि आप अपने बोध को बढ़ाने, जीवन के एक अधिक बड़े हिस्से का स्वाद चखने के लिए महाशिवरात्रि की इस रात का लाभ उठाएं’ – सद्गुरु

एक दिव्यदर्शी, युगद्रष्टा, मानवतावादी, सद्गुरु जग्गी वासुदेव एक अलग तरह के आध्यात्मिक गुरु हैं। अगाधता, गूढ़ता और प्रयोगवादिता का एक असाधारण संगम, सद्गुरु के जीवन और कार्य ने यह सिद्ध कर दिया है कि योग किसी दूर-सुदूर अतीत की कोई गूढ़-विद्या नहीं है, बल्कि एक समकालीन विज्ञान है, जो हमारे समय में बेहद प्रासंगिक है। और पढ़े

सद्गुरु के अन्वेषणात्मक, उत्प्रेरक, अंतर्दृष्टियुक्त, विनोदपूर्ण, तर्कसंगत, उल्लास से ओत-प्रोत और बहुत गहरे में रूपांतरित करने वाले कार्यक्रमों और व्याख्यानों ने उन्हें अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के श्रेष्ठ वक्ता और विचारक के रूप में प्रतिष्ठा दिलाई है।

मौजूदा समस्याओं और विश्व की घटनाओं की सद्गुरु की तीक्ष्ण समझ, और मानव कल्याण के प्रति उनके स्पष्ट वैज्ञानिक दृष्टिकोण ने पूरे विश्व के श्रोताओं को प्रभावित किया है। वे ईशा योग केंद्र के कई सारे अनूठे भवनों और प्रतिष्ठित स्थलों के डिज़ाइनर हैं। इन प्रतिष्ठित स्थलों को उनकी आध्यात्मिक शक्ति, पर्यावरण-अनुकूलता और सुंदरता के मिश्रण की वजह से पूरे विश्व में ख्याति प्राप्त हुई है।

  • लेख

    महाशिवरात्रि और आदि योगी के बारे में लेख Goto page