महाशिवरात्रि

4 मार्च, शाम 6 बजे से सुबह 6 बजे तक

ईशा योग केंद्र

महाशिवरात्रि पर, वेल्लिंगिरि पर्वत की तलहटी में, आप सही समय पर सही जगह मौजूद हैं। अगर आप खुद को ग्रहणशील बनाएं, तो यह जागृति की रात बन सकती है। – Sadhguru

व्यक्तिगत रूप से भाग लें

रातभर चलने वाले महोत्स्व में शामिल हैं :

Midnight Meditation

मध्य-रात्रि ध्यान

आधी रात में, सद्‌गुरु महोत्सव में मौजूद लोगों के बहुत बड़े समूह को एक बहुत शक्तिशाली ध्यान में दीक्षित करते हैं, जो इस रात का मुख्य आकर्षण होता है।

Musical Performances

संगीत की प्रस्तुतियां

ईशा में, हम हर साल महाशिवरात्रि को भव्य तरीके से मनाते हैं। महाशिवरात्रि की पूरी रात मशहूर कलाकारों की प्रस्तुतियां चलती रहती हैं, जिससे कि सभी को महाशिवरात्रि में हिस्सा लेने और इसका लाभ उठाने की प्रेरणा मिल सके।.

रुद्राक्ष प्रसाद

रुद्राक्ष प्रसाद

महाशिवरात्रि की पावन रात्रि में, जो भक्तगण ईशा योग केंद्र में मौजूद होंगे, उन्हें प्रसाद के रूप में रुद्राक्ष का एक दाना भेंट किया जाएगा। एक लाख आठ रुद्राक्ष के ऐसे दानों ने, पिछले एक साल से, आदियोगी के गले को सुशोभित किया है।

सर्प सूत्र

सर्प सूत्र

इस महाशिवरात्रि पर जो भक्त ईशा योग केंद्र में मौजूद होंगे, वे एक सर्प सूत्र पा सकते हैं। ताम्बे से बनें सर्प सूत्र को बाईं अनामिका उंगली पर पहनना चाहिए, और ये स्थिरता और खुशहाली लाने में मदद करता है।

Bhairavi Maha Yatra

भैरवी महायात्रा

महाशिवरात्रि पर, लिंग भैरवी उत्सव मूर्ति, लिंग भैरवी मंदिर से आदियोगी तक की भव्य यात्रा करेंगी। पहली बार, आपके पास इस उल्लासपूर्ण महायात्रा का हिस्सा बनने का अनूठा अवसर है। देवी के वैभव, कृपा और आनंद में लीन हो जाइए।.

आदियोगी प्रदक्षिणा

आदियोगी प्रदक्षिणा

किसी शक्ति स्थान की ऊर्जा को ग्रहण करने के लिए उसके चारों ओर घूमना प्रदक्षिणा कहलाता है। आदियोगी प्रदक्षिणा के द्वारा आदियोगी की कृपा के प्रति ग्रहणशील बना जा सकता है, जिससे परम मुक्ति पाने की इच्छा प्रबल हो सकती है।

ईशा योग केंद्र के महाशिवरत्रि महोत्सव में आप बिना किसी शुल्क के हिस्सा ले सकते हैं। इस महोत्सव में आपके सहयोग से हम इस रात की जबर्दस्त संभावनाओं को पूरे विश्व में करोड़ों लोगों तक पहुंचा पाएंगे।

अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

प्रश्न पूछें :

फोन: 83000 83111

ईमेल: