अक्सर पूछे जाने वाले सवाल

रजिस्ट्रेशन से जुड़े सवाल

इस महोत्सव के लिए मैं कहाँ रजिस्टर कर सकता हूँ, स्थानीय केन्द्रों में या फिर ऑनलाइन?

आप इस महोत्सव के लिए स्थानीय केन्द्रों में या फिर ऑनलाइन रजिस्टर कर सकते हैं:

कृपया महाशिवरात्रि पेज पर जाएं और रजिस्टर करने के लिए “कोयंबतूर में हिस्सा लें” पर जाएं। अगर आपको कोई सवाल पूछना हो तो आप अपना प्रश्न भेज सकते हैं और एक स्वयंसेवक आपको 4-7 दिनों में कॉल करके सीटों के अलग-अलग विकल्पों के बारे में बताएगा।

नोट: इस महोत्सव से बड़ी संख्या में लोग जुड़ना चाहते हैं, तो हो सकता है कि हम आपके प्रश्न का उत्तर न दे पाएं या अगर आपको इस अवधि के दौरान हमसे कोई कॉल/सन्देश न मिले तो आप स्थानीय केन्द्रों में रजिस्ट्रेशन पॉइंट पर कॉल कर सकते हैं।

आपके अपना वर्ग चुनने के 24-48 घंटे बाद, आपको “कृपया अपना डोनेशन पूरा करें” विषय के साथ एक ईमेल भेजी जाएगी, जिसमें डोनेशन लिंक होगी।

कृपया अपना स्पैम फोल्डर चेक कर लें, क्योंकि ये ईमेल वहाँ जा सकती है। कृपया नोट करें कि डोनेशन लिंक 30 दिनों तक सक्रिय रहेगी।


क्या मुझे फोटो आईडीकार्ड लाना होगा?

हाँ, कृपया वो मान्य सरकारी फोटो आईडी कार्ड साथ लाएं, जिसका उपयोग आपने महाशिवरात्रि सीटिंग पास के लिए रजिस्टर करते समय किया था।

विदेशी प्रतिभागियों के पास, मान्य वीसा के साथ पासपोर्ट होना जरुरी है।


मुझे आयोजन स्थल पर किस समय पहुंचना होगा?

रजिस्टर कर चुके प्रतिभागियों के लिए चेक-इन काउंटर महाशिवरात्रि के दिन दोपहर 12 बजे से खुल जाएंगे। आयोजन स्थल पर टॉयलेट और अन्य सुविधाएं उपलब्ध होंगी। कृपया आपको ईमेल पर भेजे गए ई-पास को प्रिंट करके अपने साथ लाएं।


मैं तमिल भाषा नहीं जानता, क्या मैं इस कार्यक्रम में हिस्सा ले सकता हूँ?

महाशिवरात्रि महोत्सव अंग्रेजी में संचालित किया जाएगा, और तमिल, हिंदी और मैंडेरिन अनुवाद उपलब्ध होंगे।


क्या डायबिटीज़ से पीड़ित लोग और दिल या हर्निया की बिमारी से पीड़ित लोग हिसा ले सकते हैं?

हाँ। कृपया अपनी दवाइयां अपने साथ लाएं।


मुझे फर्श पर बैठने में परेशानी है

पूरे महोत्सव के दौरान कुर्सियां उपलब्ध होंगी।


क्या मैं अपने बच्चों को ला सकता हूं? इसमें कम से कम किस उम्र के लोग भाग ले सकते हैं?

महाशिवरात्रि के कार्यक्रम के दौरान हमारे पास बच्चों और/या नाबालिगों की देखरेख करने की सुविधाएं या संसाधन नहीं हैं। हम आपसे अनुरोध करते हैं कि जितना समय आप यहाँ बिताने वाले हैं, उतने समय के लिए घर पर उनकी देखरेख की व्यवस्था कीजिए।

प्रतिभागियों को कम से कम 10 वर्ष का होना चाहिए। यदि आप कोयंबतूर में सपरिवार रहना और महाशिवरात्रि की रात को हर किसी को लाना चाहें, तो आप ऐसा कर सकते हैं।


क्या मैं कार्यक्रम स्थल पर पहुंचकर महाशिवरात्रि सीटिंग पास के लिए रजिस्ट्रेशन/दान कर सकता हूं?

कार्यक्रम के विशाल पैमाने के कारण, कार्यक्रम से कम से कम 15 दिन पहले रजिस्ट्रेशन करवाना बेहतर होगा, ताकि आपको निराशा का सामना न करना पड़े। उस दिन रजिस्ट्रेशन उपलब्धता पर निर्भर होगा।


मैं कैसे जान सकता हूं कि मेरा रजिस्ट्रेशन पूरा हो गया है?

आपके द्वारा दान किए जाने के एक कार्य दिवस के बाद, आपको अपने दान की एक रसीद और आपकी रजिस्ट्रेशन संख्या के साथ एक कंफर्मेशन ई-मेल प्राप्त होगा। कार्यक्रम के करीब आने पर आपको ईमेल द्वारा एक ईपास प्राप्त होगा।


मैंने इनर इंजीनियरिंग कार्यक्रम नहीं किया है, क्या मैं इस कार्यक्रम में शामिल हो सकता हूं?

हां, महाशिवरात्रि कार्यक्रम सभी के लिए खुला है।


एक सीटिंग पास पर कितने लोग भाग ले सकते हैं?

सभी श्रेणियों में, एक सीटिंग पास पर एक व्यक्ति की अनुमति है। एक व्यक्ति का सीटिंग पास किसी दूसरे को नहीं दिया जा सकता।


क्या मेरी भागीदारी के लिए कोई दूसरा व्यक्ति दान दे सकता है?

हां, दानकर्ता कोई भी व्यक्ति हो सकता है। उसी के अनुसार, दान की रसीदें सिर्फ दानकर्ता को ही दी जाएंगी। आप टुकड़ों में दान नहीं दे सकते।


क्या मैं दान का एक हिस्सा कार्यक्रम से पहले और एक हिस्सा कार्यक्रम के बाद दे सकता हूं?

नहीं।


क्या मैं अपनी गाड़ियाँ ला सकता हूं? क्या पार्किंग उपलब्ध है?

सीमित संख्या में पार्किंग उपलब्ध है। पार्किंग गाड़ी के मालिक के जोखिम पर है, कार्यक्रम आयोजकों द्वारा कोई जिम्मेदारी नहीं ली जाएगी।


भागीदारी संबंधी प्रश्न

गर्भवती होने या मासिक चक्र के दौरान क्या मैं इस कार्यक्रम में शामिल हो सकती हूं?

हां, आप शामिल हो सकती हैं।


इस कार्यक्रम के लिए ड्रेस कोड क्या है?

पारंपरिक भारतीय परिधान पहनना बेहतर होगा। कृपया आश्रम में रहने के दौरान शिष्टतापूर्ण कपड़े पहनें। पुरुष और स्त्रियां दोनों हमेशा कंधों, बाहों, टखनों तक पैरों और कमर को ढंकने वाले कपड़े पहनें। उपयुक्त पश्चिमी परिधान में शामिल है – पुरुषों और स्त्रियों, दोनों के लिए टखनों तक की पतलून (कैपरी या शॉर्ट्स नहीं) और बाहों के ऊपरी हिस्सों को ढंकने वाली लंबी कमीज। कृपया अपनी सुविधा के लिए और स्थानीय संस्कृति के सम्मान स्वरूप तंग कपड़े न पहनें।

यक्ष और महाशिवरात्रि के लिए, उत्सवपूर्ण पारंपरिक भारतीय परिधान को प्रोत्साहित किया जाता है।


रात के लिए हल्के गर्म कपड़े और कंबल लाने की सलाह दी जाती है

दिसंबर से मार्च तक, मौसम रात के समय थोड़ा ठंडा और दिन के समय हल्का गर्म होता है, और तापमान न्यूनतम 17 डिग्री से. (62 डिग्री फा.) और अधिकतम 35 डिग्री से. (95 डिग्री फा.) तक होता है।


क्या कपड़े धो पाने की कोई संभावना है?

योग केंद्र में पानी की भारी कमी के कारण, कपड़ों की धुलाई संभव नहीं होगी। लॉन्ड्री सुविधा भी उपलब्ध नहीं होगी। कृपया आपके रहने की पूरी अवधि के लिए पर्याप्त कपड़े लाएं।


कोयंबतूर पहुंचने के बाद मैं ईशा योग केंद्र कैसे पहुंच सकता हूं?

कोयंबतूर और ईशा योग केंद्र के बीच नियमित बसें और टैक्सियां उपलब्ध हैं। गांधीपुरम टाउन बस स्टैंड, कोयंबटूर से ईशा योग केंद्र – बस नं 14 डी, सुबह 5.30 बजे से हर आधे घंटे पर उपलब्ध है।

ईशा ट्रैवल हेल्प लाइन : 9442615436, 0422-2515430

  • टैक्सी टैक्सी: 0422-40506070, एयरपोर्ट प्रीपेड: 99764 94000,
  • फास्ट ट्रैक: 0422-2200000 (कृपया शुल्क का पता कर लें और एडवांस में बुक करें).
  • मोबाइल ऐप्प से ओला/उबर टैक्सी

महाशिवरात्रि कार्यक्रम में शामिल होने के मानदंड क्या हैं?

कोई मानदंड नहीं हैं, 10 साल से अधिक उम्र का और शारीरिक रूप से स्वस्थ कोई भी व्यक्ति कार्यक्रम में शामिल हो सकता है।


क्या मैं अपना मोबाइल फोन इस्तेमाल कर सकता हूं?

कार्यक्रम की प्रकृति के कारण और उसका अधिक से अधिक लाभ उठाने के लिए, आप कार्यक्रम के दौरान मोबाइल फोन का प्रयोग कम से कम कर सकते हैं।

NOTE: Mobile phone charging facility will NOT be available.


कार्यक्रम के दौरान मुझे किस प्रकार का भोजन ले कर आना चाहिए?

कार्यक्रम में शामिल होने वाले सभी प्रतिभागियों के लिए महाअन्नदानम प्रदान किया जाएगा। अगर आहार प्रतिबंधों के कारण आप अपना भोजन स्वयं लाना चाहते हैं, तो आप स्वास्थ्यकर शाकाहारी भोजन ला सकते हैं।


क्या मुझे कोई योग मैट लाने की जरूरत है? – प्रतिभागी संबंधी

योग मैट लाने की कोई जरूरत नहीं है।


क्या आप कार्यक्रम के समय के बारे में बता सकते हैं?

कार्यक्रम शाम 6 बजे शुरू होगा, कृपया शाम 5 बजे तक स्थान ग्रहण कर लें। देवी महायात्रा शाम 7 बजे शुरू होगी।


क्या मैं कार्यक्रम के दौरान/उसके बाद सद्‌गुरु से बात कर सकता हूं?

सद्‌गुरु के पूरी तरह से कार्यक्रम में व्यस्त होने के कारण, यह शायद संभव नहीं होगा। आपको सलाह दी जाती है कि आप प्रक्रिया में खुद को पूरी तरह से शामिल करें और निर्देशों का 100 प्रतिशत पालन करते हुए सद्‌गुरु के लिए इसे आसान बनाएं। वह पूरे समय हमारा मार्गदर्शन करेंगे, तो हमें इसमें सहयोग करना चाहिए।


कार्यक्रम संबंधी प्रश्न

क्या मैं आदियोगी प्रदक्षिणा के बारे में और कुछ जान सकता हूं?

प्रदक्षिणा एक शक्तिशाली ऊर्जा स्रोत के चारों ओर घड़ी की सुई की दिशा में चक्कर लगाने की प्रक्रिया है, ताकि हम उसकी ऊर्जा को आत्मसात कर सकें। 11 डिग्री अक्षांश पर यह विशेष रूप से सहायक हो सकता है, जहां ईशा योग केंद्र स्थित है। सद्‌गुरु ने आदियोगी प्रदक्षिणा की प्रक्रिया इसलिए बनाई है, ताकि हम आदियोगी की कृपा के प्रति ग्रहणशील बन सकें, जो परम मुक्ति‍ की दिशा में हमारे प्रयासों को तेज़ कर सकता है। यह सभी के लिए खुला है।

Pradakshina timings: Feb 21st 2020 form 6 am to 2 pm

Also on Feb 22nd 2022 from 6 am onwards


कार्यक्रम की अवधि क्या है?

यक्ष 3 दिन का कार्यक्रम है, जिसके बाद महाशिवरात्रि है जो एक रात का कार्यक्रम है।

Feb 18 to 20 : Yaksha (6PM – 8PM every night)

Feb 21 : Mahashivarathri (6PM – 6 AM)


क्या सामान्य दान या अन्नदान अलग से किया जा सकता है, जो सीटिंग पास से संबंधित न हो?

हां, सामान्य दान के लिए यहां जाएं। जाएं।

कृपया ध्यान दें कि इस लिंक पर दिए गए दान का इस्तेमाल सीटिंग पास या कॉटेज आदि सहित किसी अन्य उद्देश्य के लिए नहीं किया जा सकता।


क्या मैं सामान्य दान का आधा हिस्सा विदेश के खाते से और आधा भारतीय खाते से दे सकता हूं?

हां, सामान्य दान के लिए ऐसा किया जा सकता है। जब आप भारत के किसी बैंक खाते से दान करते हैं, तो आपको भारत का मोबाइल नंबर, भारतीय पता, पैन नंबर देना होगा।
अगर आप किसी विदेशी बैंक खाते से दान कर रहे हैं, तो आपको विदेशी संपर्क नंबर, विदेश का पता, पासपोर्ट की प्रति देनी होगी।

सीटिंग पास के मामले में, भुगतान किसी एक प्रकार के खाते से होना चाहिए, चाहे वह भारतीय हो या विदेशी, यह आपकी राष्ट्रीयता और निवास राष्ट्र पर निर्भर करता है।


क्या गर्भवती महिलाएं महाशिवरात्रि साधना कर सकती हैं?

मंत्रोच्चारण किया जा सकता है।


Will participants be able to attend the Yaksha concerts on 18 – 20 Feb evenings?

हां।


मैं महाशिवरात्रि कार्यक्रम के लिए स्वयंसेवा करना चाहता हूं, क्या आप रजिस्टर करने के लिए लिंक दे सकते हैं?

ईशा में हर महाशिवरात्रि खास होती है। यह एक ऐसा कार्यक्रम है जिसे दुनिया भर में लाखों लोग लाइव वेबस्ट्रीम के जरिये देखते हैं और लाखों लोग ईशा योग केंद्र आकर इसमें शामिल होते हैं। ईशा योग केंद्र के अंदर और महाशिवरात्रि के कार्यक्रम स्थल पर, दोनों जगह ज़बर्दस्त तैयारी में शामिल होना और उसमें भागीदारी करना, भारत और विदेशों से आने वाले लोगों का स्वागत और सहयोग करना एक सौभाग्य की बात है।

इस प्रक्रिया में अपना योगदान देना भी इस शक्तिशाली प्रक्रिया के प्रति अपनी ग्रहणशीलता को बढ़ाने का एक तरीका है।

स्वयंसेवा रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया की घोषणा जल्द ही की जाएगी।

स्वयंसेवा का लिंक


महाशिवरात्रि साधना के बारे में बताएं।

The Mahashivarathri sadhana is a preparation for Mahashivarathri –a night of tremendous possibilities. This sadhana can be done by anyone over the age of eight can participate in the sadhana, which can be done for a duration of 40/21/14/7 or 3 consecutive days leading up to Mahashivarathri on Feb 21, 2020. This sadhana will culminate at Dhyanalinga (or optionally at home).

For further information please visit the link

You can hear the chants and watch the Shiva Namaskar video here


What is Yaksha?

An Exuberance of music and dance leading up to Mahashivaratri. Yaksha will be happening between Feb 18th to Feb 20th 2020 at Isha Yoga Center.

In an endeavor to preserve and promote the uniqueness, purity and diversity of the country’s performing arts, Isha Foundation annually hosts Yaksha, a three-day festival of culture, music and dance with performances by renowned artistes.

We invite you to immerse yourself in a profound experience of India’s majestic ancient culture.

साधना प्रश्नोत्तरी

पालथी लगाकर बैठने के दौरान मंत्रोच्चारण में हाथों/हथेलियों की स्थिति क्या होनी चाहिए?

सद्‌गुरु ने हाथों की कोई खास मुद्रा निर्धारित नहीं की है। आप अपने हाथों को उस तरह रख सकते हैं, जो आपके लिए आरामदेह हो।


क्या मुझे साधना के समापन के दिन सिर्फ सफेद या हल्के रंग के कपड़े पहनने चाहिएं. या फिर पूरी साधना अवधि में ऐसे कपड़े पहनने चाहिएं?

पूरी साधना अवधि में।


क्या मैं स्नान या समुद्र स्नान के समय बांह पर पहने जाने वाले काले कपड़े को हटा सकता हूं?

उस कपड़े को किसी भी कारण से पूरी साधना अवधि के दौरान नहीं हटाया जाना चाहिए।


यदि विभूति उपलब्ध न हो, तो क्या कुछ और इस्तेमाल किया जा सकता है या कुछ न लगाना बेहतर है?

कृपया सिर्फ विभूति लगाएं – ईशा से ली गई विभूति का इस्तेमाल करना सबसे बेहतर होगा क्योंकि वह प्रामाणिक है और साथ ही प्राण-प्रतिष्ठित भी।


नीम या विल्व पत्र उपलब्ध नहीं हैं, न ही मैं नीम पाउडर आर्डर कर सकता हूं कि उसे रात भर भिगोकर खा सकूं। क्या मैं किसी और चीज़ का इस्तेमाल कर सकता हूं (यूरोप में बे लीव्स मिलते हैं) या इस भाग को छोड़ा जा सकता है? साथ ही समापन पर 3 नीम के पत्तों के सिवाय ध्यानलिंग को और क्या भेंट चढ़ाई जा सकती है?

दुनिया भर के भारतीय स्टोरों में अक्सर नीम और विल्व पत्र मिल जाते हैं। आप नीम पाउडर आर्डर कर सकते हैं और पानी के साथ मिलाकर पाउडर के छोटे-छोटे गोले बनाकर खा सकते हैं। अगर नीम और विल्व उपलब्ध नहीं हैं, तो आप समापन के लिए इसे छोड़ सकते हैं।


क्या आप बता सकते हैं कि यदि मुझे सुबह के अभ्यासों में शिव नमस्कार और मंत्र जोड़ना हो तो मुझे अपने अभ्यासों में उसे कहां जोड़ना चाहिए? उससे पहले या बाद में या बीच में?

कोई विशेष क्रम नहीं है, बस यह सुनिश्चित करें कि शिव नमस्कार सूर्योदय से पहले या सूर्यास्त के बाद किया जाए।


महाशिवरात्रि साधना के लिए क्या निर्देश हैं?

आपको निम्नलिखित निर्देशों का पालन करना चाहिए:
8-10 काली मिर्च के दाने 2-3 विल्व या नीम के पत्तों के साथ शहद में और मुट्ठी भर मूंगफली पानी में रात भर भिगो दें। शिव नमस्कार और मंत्रोच्चारण के बाद, पत्तों को चबा लें, काली मिर्च के दाने नीबू के रस के साथ मिलाकर खा लें और साथ ही मूंगफली भी खा लें। यदि नीम या विल्व के पत्ते उपलब्ध नहीं हैं, तो कृपया नीम पाउडर के गोले लें। नीम पाउडर IshaShoppe.com पर उपलब्ध है। कृपया इनके सेवन से पहले अपनी नियमित साधना जैसे शांभवी महामुद्रा पूरी कर लें।


क्या सुबह या दोपहर की साधना के बाद मोमबत्ती बुझा देनी चाहिए या जलते छोड़ देना चाहिए? और क्या मोमबत्ती साधना से पहले जलानी चाहिए?

अभ्यास शुरू करने से पहले दीया/मोमबत्ती जला लेना चाहिए। आदर्श रूप से आपको दीया जलाना चाहिए और साधना के बाद उसे जलता छोड़ देना चाहिए, लेकिन अगर आप एक बड़ी मोमबत्ती इस्तेमाल कर रहे हैं या उसे जलते हुए छोड़ने में आपको सुरक्षा की चिंताएं हैं, तो आप अपनी साधना के बाद उसे एक फूल की मदद से बुझा सकते हैं। उसे फूंक मार कर नहीं बुझाना चाहिए।


बांह पर काला कपड़ा कब बांधना चाहिए, सुबह की साधना शुरू करने से पहले या उसके बाद या उसके दौरान? उसे निकालना कब चाहिए और अगले दिन तक के लिए फिर से कब पहनना चाहिए? क्या इसे सिर्फ मंत्रोच्चारण के समय या नमस्कार के समय भी पहना जाना चाहिए या फिर सुबह की पूरी साधना के दौरान पहनना चाहिए?

आपको पूरी साधना अवधि (40, 21, 14, 7 या 3 दिन) के दौरान बांह पर काला कपड़ा बांध कर रखना चाहिए। आपको इस अवधि के दौरान यह कपड़ा हटाना नहीं चाहिए।


यह किस प्रकार का हर्बल पाउडर है?

आप ईशा केंद्रों से स्नानम पाउडर ले सकते हैं। अगर आपको वह न मिले, तो आप किसी ऑर्गेनिक साबुन या पाउडर का इस्तेमाल कर सकते हैं, जिसमें रसायन न हों।


घर पर विभूति कैसे बनाते हैं? और विभूति बनाने के लिए किन चीजों की जरूरत होती है? इसे सुबह की साधना से पहले लगाना चाहिए या बाद में या उसके दौरान? क्या उसे दिन भर लगाकर रखना चाहिए?

आप अपनी साधना से पहले विभूति लगा सकते हैं और उसके बाद उसे छोड़ सकते हैं। आप घर पर विभूति नहीं बना सकते, किसी विश्वस्त जगह से उसे लेना बेहतर है। यदि आप ईशा से उसे प्राप्त कर सकें, तो यह बेहतर होगा क्योंकि इससे प्रामाणिकता सुनिश्चित होगी, और ईशा से प्राप्त विभूति प्राण-प्रतिष्ठित भी होती है।


मैं 19 फरवरी को आश्रम पहुंच रहा हूं। क्योंकि महाशिवरात्रि साधना के लिए भोजन 12 बजे के बाद करना है, तो क्या हमें उस समय भोजन मिलेगा? क्या हमें सुबह सेवन के लिए कालीमिर्च, मूंगफली, नीबू आदि लाना होगा?

साधना में शामिल लोगों को 12 बजे के बाद भोजन प्रदान किया जाएगा। आपको कालीमिर्च, मूंगफली, नींबू, आदि खुद लाना होगा।


क्या काले कपड़े को न बांधकर उसे जेब में रखा जा सकता है?

कपड़े को बांह पर पहनना जरूरी है।


यदि साधना छूट जाए तो क्या करें? क्या मैं फिर अगले दिन से शुरू कर सकता हूं?

जब आप इस साधना में शामिल होने का निश्चय कर लें, तो यह महत्वपूर्ण है कि आप रोज साधना करने की प्रतिबद्धता निभाएं। अगर आप प्रतिबद्ध हैं, तो आपको अपनी साधना करने का रास्ता मिल जाएगा। आप सूर्योदय से पहले किसी भी समय इसे कर सकते हैं, तो आप यह सुनिश्चित कर लें कि अपने दिन की शुरुआत से पहले इसे करने के लिए जल्दी जाग जाएं। यह साधना बहुत शक्तिशाली है और इसमें आपके जीवन को रूपांतरित करने की शक्ति है, इसलिए कृपया इसे सफल बनाने पर ध्यान दें!


क्या जागरण करना जरुरी है? यदि मैं बीच में सो जाऊं तो क्या होगा? मैं मनीला (फिलीपींस) में हूं, और यहां 2.5 घंटे का समय का अंतर है।

महाशिवरात्रि की रात को जागरण में रहना इस साधना का एक जरुरी हिस्सा है। आप 40 दिनों तक इस साधना के लिए जो भी प्रयास करते हैं, इस रात को उसका लाभ उठाया जा सकता है, इसलिए आपको इसका अधिक से अधिक लाभ उठाना चाहिए। आप खुद को अधिक सजग रखने के लिए किसी चीज़ का सहारा ले सकते हैं, जैसे ठंडे पानी से स्नान, बालों को गीला रखना, आप उठकर टहलने जा सकते हैं। आप किसी स्थानीय उत्सव में हिस्सा ले सकते हैं। आप ईशा योग केंद्र से ऑनलाइन लाइव वेबस्ट्रीम भी देख सकते हैं।


क्या मैं शिवांग साधना और महाशिवरात्रि साधना दोनों कर सकता हूं?

हां, आप कर सकते हैं।
साधना निर्देश
सद्‌गुरु ने आगामी महाशिवरात्रि के लिए निम्नलिखित साधनाएं तैयार की है:
1. शिवांग साधना: पुरुषों के लिए – यह साधना वेल्लिंगिरी पर्वत की यात्रा के साथ समाप्त होती है।

अधिक जानकारी के लिए, शिवांग साधना और दीक्षा समय-सारिणी पर जाएं।

2. महाशिवरात्रि साधना: पुरुषों और स्त्रियों दोनों के लिए। 40/21/14/7/3 दिन की साधना। ध्यानलिंग (वैकल्पिक रूप से घर पर) पर समापन।

अधिक जानकारी के लिए महाशिवरात्रि साधना दिशा-निर्देश पर जाएं।


स्वयंसेवा संबंधी प्रश्न

मैं महाशिवरात्रि 2020 के लिए एक स्वयंसेवक के रूप में रजिस्ट्रेशन कैसे करवा सकता हूं?

आप नीचे दी गई लिंक का इस्तेमाल करके स्वयंसेवक बन सकते हैं

शांभवी महामुद्रा क्रिया में दीक्षित लोग ही स्वयंसेवा कर सकते हैं। सभी स्वयंसेवकों को कम से कम 7 दिन पहले यानी 14 फरवरी तक आने की सलाह दी जाती है।


क्या मुझे फोटो आईडी कार्ड लाने की जरूरत है?

भारतीय लोग, कृपया अपना पासपोर्ट, वोटर आईडी कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस या आधार कार्ड लाएं

नोट: कृपया वही फोटो आईडी कार्ड लाएं जो आप यहाँ फॉर्म में अपलोड करेंगे।


यदि मैं 3 दिन पहले पहुंचूं तो क्या स्वयंसेवा नहीं कर सकता?

महाशिवरात्रि उत्सव के लिए आने वाले सभी लोगों को स्वयंसेवा के अवसर जरुर उपलब्ध होंगे। स्वयंसेवकों की लगन और प्रतिबद्धता के बिना इस प्रकार का कार्यक्रम संभव नहीं है। मगर ईशा योग केंद्र में सीमित बुनियादी ढांचे के कारण 17 फरवरी के बाद आने वाले लोगों को स्वयंसेवक डॉरमेटरी उपलब्घ कराना हमारे लिए संभव नहीं होगा।


स्वयंसेवक कहां पर रहेंगे?

सभी स्वयंसेवक अस्थायी डॉरमेटरी सुविधाओं में रहेंगे जिन्हें खास तौर पर महाशिवरात्रि के लिए बनाया जा रहा है। हम सभी स्वयंसेवकों से अनुरोध करते हैं कि उसी के अनुसार योजना बनाएं। कृपया लाए जाने वाली वस्तुओं की विस्तृत सूची के लिए अक्सर पूछे जाने वाले प्रश्न सं 6 को देखें। महाशिवरात्रि कार्यक्रम का मकसद इस रात की आध्यात्मिक संभावना को सभी तक पहुंचाना है। इसलिए अगर व्यक्तिगत आराम या सुविधा को लेकर कुछ समझौता करना पड़े, तो हम आपसे इस स्थिति को समझने का अनुरोध करते हैं।


क्या हमें बिस्तर दिए जाएंगे?

आश्रम की ओर से किसी भी तरह का बिस्तर प्रदान नहीं किया जाएगा। सभी स्वयंसेवकों से अनुरोध है कि वे अपना बिस्तार स्वयं लेकर आएं। इसमें योगा मैट/गद्दे (यदि आपको आवश्यकता है), चादर और तकिया शामिल हैं। दिसंबर से मार्च तक, मौसम रात के समय थोड़ा ठंडा और दिन के समय हल्का गर्म होता है, और तापमान न्यूनतम 17 डिग्री से. (62 डिग्री फा.) और अधिकतम 35 डिग्री से. (95 डिग्री फा.) तक होता है। कृपया रात के लिए हल्के गर्म कपड़े और कंबल लेकर आएं।


क्या-क्या लेकर आएं?

नोट : एक समूह के रूप में आने वाले पारिवारिक सदस्य अपना सामान और प्रसाधन वस्तुएं अलग-अलग लाएं, क्योंकि उन्हें  अलग-अलग आवास दिए जा सकते हैं।

  • प्रसाधन वस्तुएं
  • टॉर्च
  • छाता
  • मच्छर भगाने वाली क्रीम
  • बिस्तर
  • पर्याप्त‍ कपड़े
  • गर्म कपड़े (शॉल, स्वेटर, आदि)
  • दवाएं (निर्धारित दवाएं और आम दवाएं जैसे सिरदर्द, बुखार आदि की गोलियां, दर्द निवारक मलहम, पाचन संबंधी समस्याओं के लिए एंटासिड, इत्यादि)
  • लगेज के लिए ताला और चाभियां
  • पावर बैंक
  • योग मैट
  • स्लीपिंग बैग (अगर संभव हो)
  • पानी की बोतल
  • धूप से बचने के लिए टोपी

सुरक्षा व्यवस्था कैसी है? क्या वहां आना सुरक्षित है?

ईशा योग केंद्र एक सुरक्षित जगह है और सुरक्षा कर्मी चौबीसों घंटे उपलब्ध होते हैं। हालांकि इतने विशाल पैमाने के कार्यक्रम के लिए हमारी सलाह है कि आप अपने सामान को लेकर अत्यंत सतर्क रहें। क्योंकि आपका आवास स्थान कई लोगों द्वारा साझा किया जाएगा, इसलिए कृपया किसी तरह का कीमती सामान, जेवर, लैपटॉप या महंगे इलेक्ट्रानिक गैजेट्स न लाएं। अपने सामान की सुरक्षा के लिए कृपया ताला और चाभी साथ रखें और सुरक्षा के लिहाज से अपने बैगों को ताला लगाकर रखें।


क्या मोबाइल फोन को चार्ज करने की सुविधा उपलब्ध होगी?

रहने के स्थानों में चार्जिंग सुविधाएं सीमित रूप से उपलब्ध होंगी। कृपया चार्ज करते समय अपने मोबाइल फोनों को रखवाली के बिना न छोड़ें। अपना मोबाइल पावर बैंक लेकर आना बेहतर होगा।


मैं ईशा योग केंद्र में जल्दी से जल्दी कब तक पहुंच सकता हूं और अधिक से अधिक कब तक रुक सकता हूं? यदि मैं जल्दी पहुंचना या देर से निकलना चाहूं तो मुझे क्या करना होगा?

स्वयंसेवकों को 17 फरवरी तक आ जाना होगा, और 23 फरवरी तक यहीं रहना होगा। क्योंकि इस कार्यक्रम के लिए बहुत सी तैयारी की जरुरत होगी, हम सलाह देते हैं कि आप जनवरी में ही आ जाएं।


स्वयंसेवक महाशिवरात्रि के दौरान एक अलग ‘वालंटियर बे’ में बैठेंगे। आपको अपने लिए सीटिंग पास बुक करने की जरूरत नहीं है।


क्या मैं एक स्वयंसेवक के रूप में रजिस्टर करवाकर सीटिंग पास भी पा सकता हूं? क्या मैं अपनी चुनी हुई जगह पर बैठ सकता हूं?

स्वयंसेवक के रूप में हम ये तय करने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं कि लोग महाशिवरात्रि कार्यक्रम का अनुभव किस तरह करते हैं। हम स्वयंसेवकों को पूरी रात के लिए अलग-अलग कार्यकलाप सौंपेंगे। एक बार जब आपने इस महाशिवरात्रि में खुद को एक स्वयंसेवक के रूप में प्रस्तुत करने का फैसला कर लिया है, तो हम सलाह देते हैं कि आप रात भर एक स्वयंसेवक के रूप में भागीदारी करें। खुद को भेंट के रूप में प्रस्तुत करते हुए कार्यक्रम के अनुभव को बहुत गहरा बनाया जा सकता है। अगर ‍फिर भी आप सीटिंग पास चाहते हैं, तो आप अपने एरिया कार्डिनेटर के साथ बात करके पास पा सकते हैं।


इस कार्यक्रम के लिए ड्रेस कोर्ड क्या है?

पारंपरिक भारतीय परिधान को प्रोत्साहित किया जाता है। कृपया आश्रम में रहने के दौरान शिष्टतापूर्ण कपड़े पहनें। पुरुष और स्त्रियां दोनों हमेशा कंधों, ऊपरी बाहों, टखनों तक पैरों और कमर को ढंकने वाले कपड़े पहनें। उपयुक्त पश्चिमी परिधान में शामिल है – पुरुषों और स्त्रियों, दोनों के लिए टखनों तक की पतलून (कैपरी या शॉर्ट्स नहीं) और बाहों के ऊपरी हिस्सों को ढकने वाली लंबी कमीज। कृपया अपनी सुविधा के लिए और स्थानीय संस्कृति के सम्मान स्वरूप तंग कपड़े न पहनें।


क्या कपड़े धो पाने की कोई संभावना है?

योग केंद्र में पानी की भारी कमी के कारण, कपड़ों की धुलाई संभव नहीं होगी। लॉन्ड्री सुविधा भी उपलब्ध नहीं होगी। कृपया आपके रहने की पूरी अवधि के लिए पर्याप्त कपड़े लाएं।


मैं तमिल नहीं जानता/जानती? क्या मैं महाशिवरात्रि के लिए स्वयंसेवा कर सकता हूं?

हां।


क्या मधुमेह या हृदयरोग या हर्निया से पीड़ित लोग स्वयंसेवा कर सकते हैं?

हां। कृपया अपनी दवाएं साथ लाएं।


क्या मैं अपने परिवार के सदस्यों/अतिथियों को अपने साथ ला सकता हूं?

जो लोग शांभवी महामुद्री क्रिया में दीक्षित हैं, सिर्फ उन्हें ही स्वयंसेवक आवास में ठहरने की अनुमति दी जाएगी। परिवार के अन्य सदस्य और अतिथि महाशिवरात्रि के लिए रजिस्ट्रेशन करवाकर रात भर चलने वाले उत्सव में शामिल हो सकते हैं।


क्या मैं अपने बच्चों को ला सकता हूं? इसमें कम से कम किस उम्र के लोग भाग ले सकते हैं?

महाशिवरात्रि के कार्यक्रम के दौरान हमारे पास बच्चों और/या नाबालिगों की देखरेख करने की सुविधाएं या संसाधन नहीं हैं। हम आपसे अनुरोध करते हैं कि जितना समय आप यहाँ बिताने वाले हैं, उतने समय के लिए घर पर उनकी देखरेख की व्यवस्था कीजिए।


क्या मैं अपनी गाड़ी ला सकता हूं? क्या पार्किंग उपलब्ध होगी?

सीमित संख्या में पार्किंग उपलब्ध है। अगर आप कार्यक्रम स्थल की तैयारियों में मदद के लिए अपनी गाड़ी लाना चाहते हैं, तो यह भी कर सकते हैं।


क्या पर्याप्त चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध हैं?

मूलभूत फर्स्ट ऐड सुविधा उपलब्ध होगी, हालांकि नजदीकी अस्पतालों तक पहुँचने में सामान्य ट्रैफिक स्थितियों में लगभग 1 घंटे का समय लगता है। कृपया ध्यान दें, महाशिवरात्रि के दौरान अधिक ट्रैफिक होने के कारण अस्पताल पहुंने में अधिक समय लगेगा। नजदीकी मेडिकल शॉप 8 किलोमीटर दूर हैं। कृपया अपनी नियमित दवाएं अपने साथ रखें।


क्या मैं पारंपरिक योग कार्यशाला के साथ रजिस्ट्रेशन करने के साथ-साथ महाशिवरात्रि के लिए स्वयंसेवा भी कर सकता हूं?

हां, आप कार्यशाला के लिए रजिस्ट्रेशन करवाकर महाशिवरात्रि के लिए स्वयंसेवा भी कर सकते हैं।


अतिरिक्त प्रश्नों के लिए, कृपया +91 83000 83111 पर हेल्पलाइन को कॉल करें या info@mahashivarathri.org पर ईमेल करें।