The Enchanting Island of Mauritius
In this week's Spot, Sadhguru writes about his trip to Mauritius. "Just back from the enchanting island of Mauritius. A place of many flavors and people -- Arab sailors discovered it, the Portuguese visited, the Dutch, French and British settled, and the population a mix of Indians, Africans, French, English, Chinese…"
 
 
 
 

[twocol_one]

click on photo for slideshow

 

click on photo for slideshow

[/twocol_one]
[twocol_one_last]
[translate lang=english]

Just back from the enchanting island of Mauritius. A place of many flavors and people -- Arab sailors discovered it, the Portuguese visited, the Dutch, French and British settled, and the population a mix of Indians, Africans, French, English, Chinese…The food hard-core exotic, a hybrid of three continents.

Four days of work and play. An introductory talk was well-attended, facilitated by the High Commissioner of India, the former Minister of Education and a few people from Mauritius who worked hard to make this happen. The people of Mauritius are keen to build a center, and with the right support, this could happen. The first step we are now taking in new regions is to start with Isha Kriya - One Drop Spirituality - to build a solid foundation. When this picks up, it would give me good reason to get back.

Wonderful meetings with the Prime Minister and President, and a very interesting trip to the Grand Bassin, or the ‘Ganga Talao’ as known by Indo-Mauritians. A lake situated atop a volcanic crater, the view stunning. It is said that the water from the lake communicates with the Ganga, and there are plans by the local community to consecrate a linga. Was invited for a visit - it was touching to see the gentleness and devotion with which this place is being cared for, and the warmth with which we were welcomed.

Three days of golf was just incredible, incredible. Breathtaking scenery, lagoons, wonderful weather…

They say the volcanoes of Mauritius are not dead but ‘dormant’ and could awaken in a few thousand years. Still enough time for a few more rounds of golf…

[/translate]
[translate lang=hindi]

मॉरिशस के मनोरम द्वीप से हाल ही लौटा हूं। मॉरिशस एक ऐसी जगह है, जहां कई तरह और कई पृष्ठभूमि के लोग रहते हैं। इसे अरबी नाविकों ने खोजा, पुर्तगाली यहां भ्रमण के लिए पहुंचे, डच, फ्रेंच, और अंग्रेज यहां बस गए। यहां की आबादी भारतीय, अफ्रीकी, फ्रेंच, अंग्रेज, चीनी लोगों का मिला-जुला समाज है। जहां का अद्भुद खान-पान तीनों महाद्वीपों का एक संगम है।

हमारे पास काम करने और खेलने के लिए चार दिन थे। भारतीय उच्च आयोग द्वारा आयोजित परिचय वार्ता को सुनने के लिए काफी लोग आये थे। इसे सफल बनाने में मॉरिशस के पूर्व शिक्षा मंत्री व अन्य स्थानीय लोगों ने काफी मेहनत की। मॉरिशस के लोगों की इच्छा है कि यहां भी एक ईशा केंद्र बने। उचित मदद मिलने से वह इच्छा साकार भी हो सकती है। इस नए इलाके में ईशा क्रिया - आध्यात्मिकता की एक बूंद - के माध्यम से हम पहला कदम रखने जा रहे हैं। यह आगे चलकर एक ठोस नींव डालने का काम करेगी। जब यह साकार होने लगेगा, तब मेरे पास फिर से वापस आने का अच्छा एक बहाना होगा।

मॉरिशस के प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति से मुलाकात काफी अच्छी रही। ‘ग्रॉन्ड बेसिन' की यात्रा काफी रोचक रही। ग्रांड बेसिन को यहां बसे भारतीय मूल के मॉरिशसवासी ‘गंगा तलाब' भी कहते हैं। झील जैसा यह जलाशय एक ज्वालामुखी के मुहाने पर बना है, यहां का पूरा नजारा काफी लुभावना है। कहा जाता है कि इस जलाशय का पानी गंगा से संवाद स्थापित करता है। स्थानीय लोग यहां एक लिंग की प्रतिष्ठा करने की योजना पर काम कर रहे हैं, जहां हमें आने के लिए निमंत्रित किया गया था। जिस लगन और श्रद्धा से इस जगह का रखरखाव किया गया जाता है, वो दिल को छू लेने वाला था। हमारा आदर सत्कार जिस गर्मजोशी से किया गया, वह भी काबीले तारीफ था।

गोल्फ खेलने के वे तीन दिन असाधरण थे। अनोखा, हैरतअंगेज प्राकृतिक सौंदर्य, झीलें और बेहतरीन मौसम .....

कहा जाता है कि मॉरिशस के ज्वालामुखी मृत न होकर सुप्तावस्था में हैं, जो कुछ हजार सालों में फिर से जीवंत हो सकते हैं। तब तक गोल्फ की बाजियों के लिए अपने पास पर्याप्त समय है।

[/translate]

Love & Grace

[/twocol_one_last]

 

* Read Sadhguru's interview in L'Express - Mauritius' daily newspaper.

 

[fourcol_one]

[/fourcol_one] [fourcol_one]

[/fourcol_one] [fourcol_one]

[/fourcol_one] [fourcol_one_last]

[/fourcol_one_last]

 
 
 
 
 
 
Login / to join the conversation1
 
 
6 வருடங்கள் 3 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

Sadhguru, you opened me up to realize the magnificence and the enormity of creation. What a wonderful description of Mauritius!

6 வருடங்கள் 3 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

Lovely to see Isha growing in all parts of the world.  Amazing work.

6 வருடங்கள் 3 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

hi sadhguru.. fortunate to touch wit u through blog...!

6 வருடங்கள் 3 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

namaskaram guruji, nice to the photos of mauritius and comment and the name itself spells about spirituallty prnams  mahadevan 

6 வருடங்கள் 2 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

One of my favorite countries..The last time I visited it was 3 years ago. Would love to see an Isha yoga center there.. Like sadhguru says, one drop of spirituality to people of all countries. Great going.

6 வருடங்கள் 2 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

'' it was touching to see the gentleness and devotion with which this place is being cared for, and the warmth with which we were welcomed.''....my thoughts exactly  when I  visited the place a few years ago:)

6 வருடங்கள் 2 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

GREAT NEWS, ISHA IS  SPREADING ITS WINGS EVEN IN  A SMALL COUNTRY LIKE MAURITIUS,  LOVE TO SEE ALL OVER THE WORLD SO SOOON- RTN JAMES-SALEM

6 வருடங்கள் 2 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

 Sadguru i am practicing the inner engineering i feel calm thanks

6 வருடங்கள் 2 மாதங்கள் க்கு முன்னர்

      "Little drops of water  Little grains of sand make the mighty ocean and the pleasant land. Little deeds of kindness, Little words of love, help to make earth happy, like the Heaven above".
Our Sadhguru's
Little drops of Spirituality,
Little words of Grace,
Lead the mankind to
The Ultimate destination.