झगड़ालू लोगों के साथ कैसे रहें?

एक साधक ने सद्गुरु से पूछा, मैं जो कुछ भी करता हूं उसमें मुझे टकराव का सामना क्यों करना पड़ रहा है? अगर अपने हर काम में आपको टकराव का सामना करना पड़ रहा है, तो सद्गुरु कहते हैं, कि जाहिर है आप एक सैंडपेपर हैं। वे भीतरी और बाहरी टकराव दोनों को कम करने का एक सरल तरीका बता रहे हैं।