संपूर्णता का संगीत: साउंडस ऑफ ईशा की नई भेंट
आज के ब्लॉग में सुनें साउंड्स ऑफ़ ईशा का नया गीत, “होलनेस”, जो हमें साल 1994 में आयोजित नब्बे दिन के होलनेस कार्यक्रम की याद दिलाता है।
 
 

सद्गुरुआज के ब्लॉग में सुनें साउंड्स ऑफ़ ईशा का नया गीत, “होलनेस”, जो हमें साल 1994 में आयोजित नब्बे दिन के होलनेस कार्यक्रम की याद दिलाता है। यह कार्यक्रम खुद सद्‌गुरु के द्वारा संचालित किया गया था...


 

"भारत की मौलिक शक्ति यह है कि हमारा देश खोजियों व जिज्ञासुओं का देश है – हमारी खोज सत्य और मुक्ति की है। यही आध्यात्मिक सूत्र हमें एक देश के रूप में संगठित करता है।" - सद्‌गुरु

“होलनेस” नब्बे दिन का कार्यक्रम था जिसे सद्‌गुरु ने साधकों के एक छोटे से ग्रूप के लिए 1994 में आयोजित किया था। कई सालों के बाद, जब ईशा योग केंद्र थोड़ा विकसित हो चुका था, तब “होलनेस” को 7 दिन का कार्यक्रम बना दिया गया। यह कार्यक्रम भी सद्‌गुरु ही संचालित करते थे।

यह संगीत, वाद्य संगीत रचने की हमारी सबसे पहली कोशिशों में से एक है, और इसका मकसद होलनेस कायक्रम के पहले दिन बजाया जाना था, जिससे की सहभागी सद्‌गुरु की उपस्थिति में शांत और स्थिर हो सकें, और कार्यक्रम की प्रक्रिया को पूरे खुलेपन से अपना सकें।

इतने सालों के बाद आज भी संगीत का नाम, उस प्रोग्राम के नाम की तरह, होलनेस ही है, लेकिन संगीत में कई रूपांतरण और अदल-बदल हुए हैं। यह हमारी खुशकिस्मती रही है कि कई सारे पेशेवर कलाकारों ने आकर अपने संगीत के अनुभव से इसको संवारा है। सुनतें हैं इसका नवीनतम रूप – जो कि सद्‌गुरु के सान्निध्य में रिकॉर्ड किया गया था।

 
 
 
  0 Comments
 
 
Login / to join the conversation1