चुनौती भरे इस वक्त में सद्‌गुरु की भेंट

इस कठिन परिस्थिति से पार पाने के लिए सद्‌गुरु हमें दैनिक क्रियायें और साधना सहायता प्रस्तुत कर रहे हैं
चुनौती भरे इस वक्त में सद्‌गुरु की भेंट
 

हम वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (COVID-19) के साथ असामान्य रूप से चुनौतीपूर्ण समय से गुजर रहे हैं। हम सभी को अपने दैनिक जीवन में नाटकीय परिवर्तनों का सामना करना पड़ रहा है। इस स्थिति की अनिश्चितता के कारण लोग डर या चिंता का अनुभव कर रहे हैं। ऐसे समय में, यह और भी ज़्यादा ज़रूरी है कि हम अपने उत्साह और आंतरिक संतुलन को बढ़ायें, ताकि हम अपने आसपास के सभी लोगों के लियें प्रेरणा बनें और उन्हें प्रभावित कर सकें।

इसके लिये सद्‌गुरु ने एक सरल लेकिन शक्तिशाली निर्देशित साधना की पेशकश की है, जिससे हम प्रतिदिन लाभ उठा सकते हैं।

सद्‌गुरु द्वारा दिए गए दैनिक अभ्यास

योग योग योगेश्वराय जप(12 चक्र) के बाद ईशा क्रिया ध्यान

अभ्यास कैसे सीखें?

पहला चरण: क्रिया के महत्व के बारे में जानें

दूसरा चरण:योग योग योगेश्वराय जप को सीखें

 

तीसरा चरण:ईशा क्रिया सीखें

 

चौथा चरण: "योग योग योगेश्वराय" का जप और उसके बाद ईशा क्रिया का पूर्ण निर्देशित दैनिक अभ्यास

सिंह क्रिया

हमारी इम्युनिटी/रोग प्रतिरोधकता और फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाने के लिए एक सरल योगाभ्यास

सद्‌गुरु भेंट कर रहे हैं सिंह क्रिया, इस चुनौती भरे समय में मदद के लिए एक सरल लेकिन शक्तिशाली योगाभ्यास जो हमारी इम्युनिटी और हमारे फेफड़ों की क्षमता को बढ़ाता है।

अभ्यास के लिए निर्देश:>

1. इस बात का खयाल रखें कि आपका पेट पूरी तरह न भरा हो, आप थोड़े से भूखे हों।आदर्श रूप से, अपने अंतिम भोजन और अभ्यास के बीच कम से कम 2½ घंटे का अंतर रखें।

2. 6 से 70 साल की उम्र का कोई भी व्यक्ति इस अभ्यास को कर सकता है, चाहे उनकी शारीरिक और मेडिकल स्थिति कैसी भी हो|

3. 6 साल से कम उम्र के लोग और 70 साल से अधिक उम्र के लोग भी यह अभ्यास कर सकते हैं, लेकिन उन्हें सांस की प्रक्रिया केवल 12 बार ही करना चाहिए (21 बार नहीं )

4. जिन लोगों के मस्तिष्क में किसी प्रकार का ट्यूमर है या ब्रेन हेमरेज है, वे भी इसका अभ्यास कर सकते हैं, लेकिन उन्हें सांस की प्रक्रिया केवल 12 बार ही करना चाहिए (21 बार नहीं )

 

सिंह क्रिया FAQs 

अतिरिक्त सहायता

अगर आप वेबिनार, न्यूजलेटर आदि द्वारा, रुपांतरण के यौगिक साधन और स्वास्थ्य व कल्याण के लिए सलाह के रूप में अतिरिक्त सहायता प्राप्त करना चाहते हैं तो कृपया नीचे दिए गए लिंक पर रजिस्टर करें।

 
 

इनर इंजीनियरिंग ऑनलाइन – इस चुनौती भरे वक्त में ईशा फाउंडेशन की ओर से एक भेंट

मेडिकल पेशेवरों और पुलिस कर्मियों के लिए इनर इंजीनियरिंग ऑनलाइन फ्री 

हम सभी मेडिकल पेशेवरों और पुलिस कर्मियों के, कोराना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में हम सबको सुरक्षित रखने में, उनकी निःस्वार्थ सेवा और बलिदान के लिए, अत्यंत आभारी हैं। कृतज्ञता और सराहना में, आपकी खुद की खुशहाली को सहारा देने के लिए, हम इनर इंजीनियरिंग ऑनलाइन को निःशुल्क भेंट कर रहे हैं। इनर इंजीनियरिंग ऑनलाइन अंग्रेजी, हिंदी और तमिल में उपलब्ध है। कृपया अपने अपार्टमेंट, पड़ोस, संबंधी या दोस्तों में मौजूद मेडिकल व पुलिस कर्मियों को यह उपहार प्रदान करना सुनिश्चित करें।

 

IEO की फीस दूसरों के लिए 50% कम 

5 जुलाई, 2020 तक IEO हर किसी और के लिए 50% की छूट पर उपलब्ध है। कृपया अपने उल्लास, संतुलन, और आंतरिक खुशहाली को बढ़ाने के लिए इस अवसर का उपयोग करें।

 

 

उनके लिए जो शांभवी महामुद्रा क्रिया में दीक्षित हैं 

किसी चुनौती का सामना करने पर, हमारी बुद्धिमत्ता, स्वास्थ्य और संतुलन सबसे महत्वपूर्ण बन जाते हैं। तब भीतर की ओर मुड़ना और भी अधिक जरूरी हो जाता है। अगर आप अपने अभ्यास को अधिक गहरा बनाने और अपने भीतर अधिक उल्लास और स्थिरता पैदा करने के लिए इस लॉकडाउन या क्वारंटीन के समय का उपयोग करना चाहते हैं, तो आप एक 40-दिन की सुनियोजित साधना के सहारे के लिए रजिस्टर कर सकते हैं। जो लोग रजिस्टर करेंगे, उनको हम और अधिक विवरण और सद्‌गुरु द्वारा रचित दैनिक अभ्यास का कार्यक्रम भेजेंगे।

40-दिन की साधना के लिए नीचे रजिस्टर करें।

(कृपया ध्यान दें कि अगर आप ‘दैनिक साधना’ सेक्शन में पहले ही साइन-अप कर चुके हैं, तो आपको दोबारा साइन-अप करने की आवश्यकता नहीं है।)