क्या योग-ध्यान सिर्फ अमीरों के लिए है?