आदियोगी – योग के मूलदाता

सभी तक जानकारी पहुंचाने के लिए सद्‌गुरु से जुड़ें

24 फरवरी, महाशिवरात्रि के दिन, सद्‌गुरु आदियोगी की 112 फीट ऊँची प्रतिमा की प्राण प्रतिष्ठा करेंगे। ये भव्य चेहरा कोई स्मारक या यादगार नहीं है। आदियोगी की प्रतिमा एक ऐसी प्रेरणा है, जो हर मनुष्य को याद दिलाएगी कि योग हमें सीमाओं से परे जाने के तरीके भेंट करता है। आदियोगी प्रोत्साहित करने वाली शक्ति होंगे, और उस आध्यात्मिक क्रांति की आधारशिला होंगे जो पूरे विश्व में फैलेगी।

इस संभावना को पूरी मानवता से साझा करने के लिए हमसे जुड़ें।

ये काम कैसे करता है?

आपके साइन अप करने के बाद, थंडर क्लैप आपकी फेसबुक वॉल पर या ट्विटर पर 24 फरवरी के दिन खुद ही मेसेज पोस्ट करेगा। हज़ारों लोगों द्वारा एक साथ मेसेज पोस्ट होने पर सजगता की एक लहर पैदा होगी – जिससे सोशल मीडिया पर आदियोगी और सद्‌गुरु से ज्यादा से ज्यादा लोग जुड़ पाएंगे।

कृपया ध्यान रखें कि आपको, थंडर क्लैप को, आपके फेसबुक और ट्विटर अकाउंट के माध्यम से पोस्ट करने की अनुमति देनी होगी। हम पक्के तौर पर ये कह सकते हैं, कि ये तरीका पूरी तरह से सुरक्षित है, और आपकी गोपनीयता और सुरक्षा में किसी भी तरह की कमी नहीं होगी।

कैसे जुड़ें?

फेसबुक

  • अपने फेसबुक अकाउंट में लॉग इन करें
  • यहां क्लिक करें और “फेसबुक” चुनकर साइन अप करने के लिए आगे बढ़ें

ट्विटर

  • अगर आपके पास ट्विटर एकाउंट भी है, तो अपने अकाउंट में लॉग इन करें।
  • यहां क्लिक करें और “ट्विटर” चुनकर साइन अप करने के लिए आगे बढ़ें
  •  

    थंडर क्लैप से जुड़ने के बाद, इस लिंक को अपने दोस्तों के साथ जरुर साझा करें, जिससे वे भी अन्य लोगों तक ये जानकारी पहुंचा सकें!

    महाशिवरात्रि 2017 के बारे में ज्यादा जानने के लिए isha.sadhguru.org/msr पर जाएं.