कलाकारों और प्रस्तुतियों की जानकारी

यक्ष और महाशिवरात्रि कलाकारों को अपनी प्रस्तुतियां देने और कला प्रेमियों को शास्त्रीय कलाओं का आनंद उठाने के लिए एक मंच प्रदान करते हैं। यक्ष, देश की संगीत और नृत्य कलाओें की विशेषता, शुद्धता और विविधता को बनाए रखने और प्रोत्साहित करने की कोशिश है। ये कलात्मक प्रस्तुतियां दुनिया भर के लोगों को इन कलाओं की सुंदरता का पता लगाने और उसका अनुभव करने का अवसर देती हैं। इन कला रूपों की बारीकी और जीवंतता से भारत की प्राचीन संस्कृति की गहराई और गहनता का भी पता चलता है।

detail-seperator-icon

महाशिवरात्रि 2018

फरवरी 13, 2018

हर वर्ष फरवरी/मार्च के दौरान ईशा योग केंद्र में महाशिवरात्रि का उत्सव मनाया जाता है। महाशिवरात्रि के दिन और रात की खास प्रकृति हमें अपनी खुशहाली के लिए प्रकृति की शक्तियों का लाभ उठाने का एक अनूठा अवसर देती है।

अंतर्राष्ट्रीय ख्याति के कलाकारों की लाइव प्रस्तुतियों के बीच रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम और ईशा के अपने बैंड साउंड्स ऑफ ईशा की प्रस्तुतियां रात भर चलने वाले इस उत्सव को और खास बना देते हैं।

सोनू निगम (विशेष प्रस्तुति)

सोनू निगम एक अग्रणी भारतीय गायक हैं, जिन्होंने फिल्मों में प्लेबैक गायन के माध्यम से प्रशंसा अर्जित की। एक मधुर आवाज और बहुमुखी प्रतिभा के धनी सोनू निगम को हाल के दिनों के सर्वश्रेष्ठ गायकों में से एक कहा जा सकता है। संगीत में उनके शानदार प्रदर्शन के लिए स्वरालय यसुदास पुरस्कार, और फिल्म कल हो ना हो के लिए सर्वश्रेष्ठ पुरुष पार्श्व गायक राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार – उन्हें मिले पुरस्कारों में शामिल हैं।

दलेर मेहंदी

दलेर सिंह मेहंदी एक प्रसिद्ध कलाकार और संगीत उद्योग के ख्याति प्राप्त संगीतकार है। दलेर मेहंदी संगीतकारों के परिवार में पले बड़े, और उन्होंने बचपन से ही भारतीय शास्त्रीय संगीत के रागों और शबद का अभ्यास शुरू कर दिया था। उन्होंने संगीत उद्योग को कई हिट दिए हैं जिनमें इन्टरनेट पर और पूरे विश्व में प्रसिद्द तुनक तुनक तुन और बोलो ता रा रा रा शामिल हैं।

शॉन रोल्डन और मित्र

राघवेंद्र, जो लोकप्रिय रूप से शॉन रोल्डन के रूप में जाने जाते हैं, एक गायक और संगीतकार हैं जो तमिल फिल्म उद्योग के लिए काम करते हैं। उनकी पहली रचना ने काफी समालोचनात्मक प्रशंसा अर्जित की थी, और इसे सभी के द्वारा सराहा गया था। उन्होंने कर्नाटक संगीत, निजी गीतों और फिल्मों के साउंडट्रैक्स पर काम किया है, और साथ ही उनके बैंड, शॉन रोल्डन एंड फ्रेंड्स के साथ मिलकर निजी रूप से तमिल संगीत की भी रचना की है।

detail-seperator-icon

यक्ष 2018

फरवरी 10-12 2018: शाम 6.50 बजे से – 8:30 बजे तक

ईशा फाउंडेशन हर साल संगीत और नृत्य के शानदार और उल्लासमय उत्सव – यक्ष – का आयोजन करती है। इस त्योहार का नाम यक्षों के नाम पर रखा गया है, जिनकी चर्चा भारतीय मिथक में की गई है। यक्ष को फरवरी/मार्च के महीनों में आयोजित किया जाता है, और इसमें भारत के महानतम कलाकार हिस्सा लेते हैं और हज़ारों कला प्रेमी दर्शकों के रूप में शामिल होते हैं।

राकेश चौरसिया


प्रसिद्ध कलाकार हरिप्रसाद चौरसिया के भतीजे राकेश चौरासिया को अपने चाचा के “सबसे सफल शिष्यों” में से एक कहा जाता है। उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर ख्याति प्राप्त है, और उन्होंने कई पुरस्कार जीते हैं और कई प्रमुख एल्बमों की रचना की है।

श्रुति सडोलीकर काटकर


संगीत कार्यक्रमों की एक लोकप्रिय संगीतकार, और साथ ही संगीत कला की विदुषी, सुश्री काटकर अपनी आवाज से कई दशकों से दर्शकों को प्रसन्न करती आई हैं। उन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार दिया जा चुका है, जो कि भारत में प्रदर्शन कलाओं के कलाकारों को दी जाने वाली सर्वोच्च मान्यता है।

एन रविकिरण


रविकिरण को चित्रवीणा बजाने में महारत हासिल है। संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार पाने वाले सबसे कम उम्र के कलाकारों में से एक होने के अलावा, उन्होंने 800 से अधिक संगीत रचनाएं भी तैयार की हैं।

detail-seperator-icon

पिछली प्रस्तुतियां

पंडित जसराज

पंडित हरिप्रसाद चौरसिया

उस्ताद अमजद अली खान

सिवमणि

सुधा रघुनाथन