gallery

ईशा लहर दिसम्बर 2017 - सन्यास के अनूठे पहलुओं को जानें सद्‌गुरु से

ईशा लहर दिसम्बर 2017 – सन्यास के अनूठे पहलुओं को जानें सद्‌गुरु से

वो जाड़े की एक सुबह थी। मैं आश्रम में, नालंदा कॉन्फ्रेंस सेंटर के प्रांगण में एक स्वामी जी के साथ टहल रही थी। हरी-हरी... ...
और पढ़ें
Land 2

बंजर जमीन को उपजाऊ बनाने की एक दास्‍तान

कडलोर जिले के पलयापटनम गांव की एक सेवानिवृत्त प्रिंसिपल कस्तूरी अपनी दिलचस्प कहानी साझा कर रही हैं। जानते हैं कि कैसे उन्होंने और उनके... ...
और पढ़ें
ईशा लहर नवम्बर 2017 - नदी अभियान रैली पूरे भारत में फैली

ईशा लहर नवम्बर 2017 : नदी अभियान रैली पूरे भारत में फैली

  वो बहती थी, उमड़ती थी मचलती थी, थिरकती थी कलकलकल छलछलछल वो पलपल झूमती चलती थी।   पर्वतों जंगलों से होकर घाटियों में... ...
और पढ़ें
नरक चतुर्दशी : बुराइयों को मिटाने का उत्सव

नरक चतुर्दशी : बुराइयों को मिटाने का उत्सव

कृष्ण ने नरकासुर नाम के अत्यंत क्रूर राजा को दिवाली से पहले आने वाली चतुर्दशी के दिन मारा था। यह नरकासुर की ही इच्छा थी की यह चतुर्दशी का उत्सव मनाया जाए। ...
और पढ़ें
वाराणसी : भगवान शिव के त्रिशूल पर टिका शहर

वाराणसी : भगवान शिव के त्रिशूल पर टिका शहर

वाराणसी - जिसे बनारस और काशी भी कहते हैं, भारत का सबसे पुराना और आध्यात्मिक शहर है। किसने रचा इस शहर को? क्या शिव खुद यहां रहते थे? क्या है इसका इतिहास? ...
और पढ़ें
ईशा लहर अक्टूबर 2016 : देवी देवताओं को बनाने का विज्ञान

ईशा लहर अक्टूबर 2016 : देवी देवताओं को बनाने का विज्ञान

नवरात्रि के अवसर पर ईशा लहर के अक्टूबर अंक में आप पढ़ सकते हैं स्त्री शक्ति और देवी पूजा से जुड़े अनेक पहलूओं के... ...
और पढ़ें
ईशा लहर सितम्बर 2016 : नेतृत्व कोई काम नहीं, एक गुण है

ईशा लहर सितम्बर 2016 : नेतृत्व कोई काम नहीं, एक गुण है

भरतीय संस्कृति में महान नेताओं को हमेशा आदर भाव से देखा गया है। युगों से ऐसे नेताओं ने रूपांतरण का कार्य किया है। लेकिन... ...
और पढ़ें
ईशा लहर अगस्त 2016 : आध्यात्मिक गुरु का कारोबार

ईशा लहर अगस्त 2016 : आध्यात्मिक गुरु का कारोबार

आध्यात्मिक गुरुओं की व्यवसाय और कारोबारों में भूमिका को लेकर कुछ प्रश्न खड़े किया जाते रहे हैं। क्या गुरुओं का अपना कारोबार खड़ा करना... ...
और पढ़ें
गुरु पूर्णिमा 2015 - आप भी लाभ उठाएं

गुरु पूर्णिमा 2016 – आप भी लाभ उठाएं

गुरु पूर्णिमा वो दिन है, जब आदि योगी ने आदि गुरु में रूपांतरित होकर विश्‍व को आध्यात्मिक प्रक्रिया भेंट की। इस दिन पहली बार मनुष्यों को यह याद दिलाया गया कि अगर वे मेहनत करने के लिए तैयार हैं, तो अस्तित्व का हर दरवाज़ा खु ...
और पढ़ें