प्रेम

प्रेम किया जाना नहीं, प्रेम में होना महत्वपूर्ण है

प्रेम किया जाना नहीं, प्रेम में होना महत्वपूर्ण है

प्रेम के लिए हम अकसर सोचते हैं कि दो प्रेमी होने चाहिए, जो एक दूसरे से प्रेम करें। आज के स्पाॅट में सद्‌गुरु बता... ...
और पढ़ें
माँ का दिन

हर दिन – माँ का दिन

अपनी माँ के प्रति हमारे अंदर असीम प्रेम होता है, क्योंकि हमने अपने अस्तित्व की शुरुआत उसी के एक अंश के रूप में की थी। लेकिन हम इस प्रेम को और कई गुना बढ़ा सकते हैं, अगर हम इसे करीब से देखें कि सृष्टि में एक भी चीज ऐसी नह ...
और पढ़ें
प्रेम क्या है - बंधन या मुक्ति, जीवन या जहर?

प्रेम क्या है – बंधन या मुक्ति, जीवन या जहर?

प्रेम क्या है? किसी को पाना या खुद को खो देना? एक बंधन या फिर मुक्ति? जीवन या फिर जहर? इसके बारे में सबकी अपनी अपनी राय हो सकती हैं,लेकिन वास्तव में प्रेम क्या है - आइए जानते हैं। ...
और पढ़ें
कृष्ण की क्रीडाएं और लीला : क्यों महत्वपूर्ण हैं?

कृष्ण की क्रीड़ाएँ और लीला : क्यों महत्वपूर्ण हैं?

कृष्ण की रसिकता और क्रीड़ापूर्ण व्यवहार कई बार लोगों के मन में कई प्रश्न पैदा कर देता है। क्या क्रीड़ापूर्ण होना आध्यात्मिकता से दूर ले जाता है? जीवन के लिए क्या उचित है? ...
और पढ़ें