प्रेम

स्त्री और पुरुष प्रकृति - कौन बेहतर है

स्त्री और पुरुष प्रकृति: कौन बेहतर है?

सद्‌गुरु से एक प्रश्न पूछा गया कि क्या रचनात्मकता स्त्री प्रकृति से जुड़ी है? सद्‌गुरु बताते हैं कि अगर आपकी पहचान एक नारी के... ...
और पढ़ें
उम्मीदों पर

हमारी उम्‍मीदों पर दूसरे क्‍यों नहीं खरे उतरते?

सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि अगर हम इसलिए परेशान हैं कि लोग हमारी उम्मीदों पर खरे नहीं उतरते तो हमें खुद को ठीक... ...
और पढ़ें
क्या विचार और भावनाओं का सच्चाई से कोई सम्बन्ध है

क्या विचार और भावनाओं का सच्चाई से कोई सम्बन्ध होता है?

क्या मनोवैज्ञानिक और अस्तित्व संबंधी प्रक्रिया आपस में जुड़ी हुई है? मनोवैज्ञानिक प्रक्रिया की क्या अहमियत और सीमाएं हैं और क्या वह चेतनता की... ...
और पढ़ें
कैसे जानूं कि मुझमें भक्ति है या नहीं?

कैसे जानूं कि मुझमें भक्ति है या नहीं?

सद्‌गुरु भक्ति को आध्यात्मिक विकास का एक महत्वपूर्ण तत्व बताते हैं। एक साधक ने उनसे जानना चाहा कि उसे कैसे पता चल सकता है,... ...
और पढ़ें
प्रेम किया जाना नहीं, प्रेम में होना महत्वपूर्ण है

प्रेम किया जाना नहीं, प्रेम में होना महत्वपूर्ण है

प्रेम के लिए हम अकसर सोचते हैं कि दो प्रेमी होने चाहिए, जो एक दूसरे से प्रेम करें। आज के स्पाॅट में सद्‌गुरु बता... ...
और पढ़ें