काम

आप वही करें जिसे आप सबसे महत्वपूर्ण मानते हैं

आप वही करें जिसे आप सबसे महत्वपूर्ण मानते हैं

सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि अगर आप वो नहीं करते जो आपको सबसे महत्वपूर्ण लगता है तो आपका जीवन व्यर्थ है। ऐसा करने... ...
और पढ़ें
​कर्तव्‍य समझकर नहीं, पूरे दिल से काम करें

​कर्तव्‍य समझकर नहीं, पूरे दिल से काम करें ​

दैनिक जीवन में हम कुछ काम अपना कर्तव्य निभाने की भावना के साथ करते हैं। सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि चाहे काम कोई... ...
और पढ़ें
चमत्कारिक काम

आप भी कर सकते हैं चमत्कारिक काम

अपनी क्षमताओं के अनुसार निरंतर काम किया जाए तो एकदिन ऐसा भी आ सकता है कि आप चमत्कारिक काम करने लगें। इस पूरी प्रणाली को सद्‌गुरु ने कुछ इस तरह समझाया: ...
और पढ़ें
कितना काम और कितना आराम

कितना काम और कितना आराम

कोई अपने जीवन में सही संतुलन कैसे लाए? अगर आप छोटे-मोटे काम करते हैं, तो आप तय कर सकते हैं कि आप छह घंटे काम करेंगे, छह घंटे आराम करेंगे, ये करेंगे, वो करेंगे। लेकिन अगर आप वाकई कोई महत्वपूर्ण काम कर रहे हैं तो ऐसा कुछ न ...
और पढ़ें