बोध

अंतर्बोध या इन्टूइशन : क्या बोध की उच्च अवस्था है?

अंतर्बोध या इन्टूइशन : क्या बोध की उच्च अवस्था है?

कभी-कभी हम ऐसे लोगों को देखते हैं, जो गणित या किसी अन्य विषय से जुड़े बेहद जटिल प्रश्नों का कुछ ही क्षणों में उत्तर... ...
और पढ़ें
आत्मविश्वास

आत्मविश्वास घातक भी हो सकता है

आजकल जिसे देखिए वही इस कोशिश में लगा है कि आत्मविश्वास कैसे पाया या बढ़ाया जाए, वो भी जीवन की प्रक्रिया को समझे बिना। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि स्पष्टता के बिना आत्मविश्वास घातक भी हो सकता है ? ...
और पढ़ें
रविंद्रनाथ टैगोर

जब टैगोर को हुआ सत्य का बोध

गुरुदेव रविंद्रनाथ टैगोर को विश्व के महानतम कवियों में से एक माना जाता है। उनकी अधिकतर कवितायेँ दिव्यता, कुदरत और सौन्दर्य के बारे में हैं। लेकिन क्या यह सारी कवितायेँ उन्होंने अपने निजी अनुभव से लिखी थीं? ...
और पढ़ें