कविताएं

सद्‌गुरु की कविता – योग

सद्‌गुरु की कविता – योग

आज अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर सद्‌गुरु हमसे अपनी कविता 'योग' साझा कर रहे हैं। जानते हैं कि योग उनके जीवन में क्या मायने रखता है ...
और पढ़ें
Poetic-fling-sadhgurus-latest-dvd-1090x614

पोएटिक फ्लिंग – सद्‌गुरु की नवीनतम डीवीडी

जब बोलचाल की भाषा बात को प्रकट करने में असमर्थ होती है, तब कविताएं साथ देतीं हैं। सद्गुरु की नवीनतम डीवीडी, पोएटिक फ्लिंग में, सद्गुरु... ...
और पढ़ें
स्रोत जीवन का

स्रोत जीवन का

इस स्पॉट में सद्‌गुरु एक कविता के द्वारा हमें बता रहे हैं कि जीवन का स्रोत हमारे अंदर ही है, और कैसे विचार, भावनाओं और सुख-सुविधाओं के जाल उसे ढंक देते हैं। ...
और पढ़ें
Sadhguru

है यह चयन तुम्‍हारा

इस बार के स्पॉट में सदगुरु हमें बता रहे हैं कि किस तरह हमारे विचार, भावनाएं वंश सी आने वाले गुण और साथ ही सांस्कृतिक प्रभाव हमारे साथ हमेशा हैं लेकिन इन सभी चीज़ों के होते हुए भी हम खुद को किस तरह बनाते हैं यह हमारा अपना ...
और पढ़ें
Sadhguru

यह पल है जागने का…

इस बार के स्पॉट मे सद्‌गुरु हमें कविता के माध्यम से बता रहे हैं, कि किस तरह आज के समाज में भौतिकवाद मानव चेतना पर हावी हो रहा है। वे कह रहे हैं कि यही वक़्त है जीवन को व्यापार और लेन देन की जड़ता से बचाने का और जीवन में चै ...
और पढ़ें