नये ब्लॉग पोस्ट

क्या समाज के कर्मों का भी हमारे जीवन पर असर पड़ता है

क्या समाज के कर्मों का भी हमारे जीवन पर असर पड़ता है?

हमारे जीवन में कई बार ऐसे हालात आते हैं, जहां हमें लगता है कि हम बिना गलती किए सजा भुगत रहे हैं। क्या समाज... ...
और पढ़ें
जीवन को उत्‍तम ढंग से जीने का सूत्र-RKK2005-copy

जीवन काे उत्‍तम ढंग से जीने का सूूूत्र

इस बार के स्पॉट में सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि लक्ष्य बनाकर हम सिर्फ भौतिक स्तर पर कुछ पा सकते हैं, लेकिन जीवन... ...
और पढ़ें
शिवांग-साधना-–-स्त्रियों-के-लिए-एक-विशेष-अवसर

शिवांग साधना 2018 – स्त्रियों के लिए एक विशेष अवसर

शिवांग साधना स्त्रियों के लिए 21 दिनों की साधना है। यह साधना महिलाओं के लिए लिंग भैरवी देवी की कृपा अनुभव करने का एक अवसर है। यह 14 जनवरी को शुरू होकर 3 फरवरी, 2015 तक चलेगी। ...
और पढ़ें
बदलने होंगे गुलामी के समय के प्रशासन, शिक्षा और राजनैतिक सिस्टम

बदलने होंगे गुलामी के समय के प्रशासन, शिक्षा और राजनैतिक सिस्टम

सद्‌गुरु हमें बता रहे हैं कि हमने आज़ादी मिलने पर अपने प्रशासनिक और अन्य प्रणालियों को न बदलकर बड़ी गलती की है, क्योंकि ये... ...
और पढ़ें
क्या अध्यात्म में प्रगति के लिए ब्रह्मचर्य का पालन जरुरी है

क्या अध्यात्म में प्रगति के लिए ब्रह्मचर्य जरुरी है?

आध्यात्मिक मार्ग पर संन्यास और ब्रह्मचर्य हमारे देश की परम्परा रही है। क्या ब्रह्मचर्य का मतलब अविवाहित होना या कुंवारापन है, या फिर इसके... ...
और पढ़ें
शक्ति चलन क्रिया और शाम्भवी महामुद्रा – दोनों में क्_या अंतर है-20060319_SHA_0157-e

शक्ति चलन क्रिया और शाम्भवी महामुद्रा – क्या है इनमे अंतर?

शक्ति चलन क्रिया करके हम अपने प्राणों पर महारत पा सकते हैं। शाम्भवी महामुद्रा में भी प्राणायाम का एक आयाम मौजूद है, फिर क्या... ...
और पढ़ें
ईशा लहर जनवरी 2017 – सुखी और स्वस्थ जीवन के 8 सूत्र

ईशा लहर जनवरी 2017 – सुखी और स्वस्थ जीवन के 8 सूत्र

हमारा नव वर्ष अंक, मनुष्य के भीतर छुपी संभावनाओं को उजागर करने पर केन्द्रित है। इस अंक में पढ़ते हैं रिश्तों, प्रेम, योग और... ...
और पढ़ें