नदी अभियान : देखें लाइव – दिन 17 – मुंबई कार्यक्रम की झलकें

नदी अभियान : देखें लाइव – दिन 17 - मुंबई कार्यक्रम की झलकें
सद्‌गुरु नदी अभियान प्लैकार्ड के साथ

18 सितम्बर को हुआ नदी अभियान का कार्यक्रम बड़ा ही दिलचस्प रहा… सिने जगत के कई बड़े सितारों ने दिल को छू जानेवाले कार्यक्रम पेश किये..  सभी ने अपने गीतों के माध्यम से नदियों की प्रशंसा की उनका गुणगान किया और नदियों की दुर्दशा को भी दर्शाया

नदी अभियान : देखें लाइव – दिन 17 - मुंबई कार्यक्रम की झलकें

सद्‌गुरु नदी अभियान प्लैकार्ड के साथ

मुंबई में नदी अभियान के शुरुआत में कैलाश खेर ने अपने गाने और अपनी हरकतों से दर्शकों को उल्लासित कर दिया। गायक शान ने भी शानदार प्रस्तुती दी। वहाँ मौजूद लोगों का उत्साह और आनंद देखते ही बन रहा था।  लोगों के जोश का यह आलम था की मुंबई में हुए नदी अभियान का नाम उस रात के लिए “महा नदी रात्रि” हो गया।

कैलाश खेर

कैलाश खेर

एक विशेष नदी गीत जिसे सद्‌गुरु ने भी आवाज़ दी

रात की ख़ास बात थी “नदियाँ – हो नदी, हा नदी, हो नदी” गाने का लॉन्च। [pullquotealign=”right”]ये पहली बार था की सद्‌गुरु ने एमटीवी स्टाइल के किसी ऐसे गाने को आवाज़ दी थी जिसे साउंड्स ऑफ़ ईशा ने नहीं बनाया था।[/pullquote]ये पहली बार था की सद्‌गुरु ने एमटीवी स्टाइल के किसी ऐसे गाने को आवाज़ दी थी जिसे साउंड्स ऑफ़ ईशा ने नहीं बनाया था। इसका मकसद था नदी अभियान को ज्यादा से ज्यादा प्रसारित और प्रचारित किया जा सके – ख़ासकर युवाओं में… ताकि ये उनके दिल की धड़कन बन जाए और वे इसे कभी भूल न पाएं।

ये गीत सुनने के लिए इस लिंक पर जाएँ : http://gaana.com/song/nadiyaan-sachin-gupta-feat-sadhguru-and-various-artist

नितिन गडकरी

नितिन गडकरी जी

इस बार कार्यक्रम में आए मेहमान भी थोड़े अलग थे। कई मीडिया समूहों के वरिष्ट अधिकारी, अभिनेता और राजनेताओं ने कार्यक्रम में शिरकत की। श्री सुधीर मुंगनटीवार – वित्त, योजना और वन मंत्री, महाराष्ट्र राज्य सरकार।

सद्‌गुरु दर्शकों से बाते करते हुए।

सद्‌गुरु दर्शकों से बाते करते हुए।

श्रीमती अमृता फडणवीस –ग्रामीण विकास की गतिविधियों में संलग्न हैं, शास्त्रीय गायिका हैं। श्रीमती फडणवीस ने नदी गीत में भी सहयोग दिया है। श्री विनीत जैन – प्रबंध निदेशक बेनेट कोलमन कम्पनी लिमिटेड, (टाइम्स ऑफ़ इंडिया, इकॉनोमिक टाइम्स, टाइम्स नाउ और रेडियो मिर्ची), श्री सुधांशु वत्स – ग्रुप सीईओ, वायकॉम 18 मीडिया प्राइवेट लिमिटेड, श्री एन पी सिंह – मुख्य कार्यकारी अधिकारी, सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया, श्री अनुपम खेर – अभिनेता – ये सभी विशेष मेहमान नदी अभियान में अपना सहयोग और समर्थन देने आये थे।

अभियान के लिए दे मिस्ड कॉल

श्री सुधीर मुंगनटीवार – वित्त, योजना एवम वन मंत्री, महाराष्ट्र राज्य सरकार ने कहा कि नदी अभियान को “रैली फॉर रिवेर्स नहीं रैली फॉर मदर्स कहा।

सद्‌गुरु ने 24 सितम्बर को विश्‍व नदी दिवस पर सभी से नदी किनारें जाने को कहा उन्होंने कहा “आप सब किसी नदी किनारे जाकर समय बिताइए।
उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार पूरी शक्ति से इस अभियान में सद्‌गुरु के साथ हैं डायल 80009 80009 एवेरी थिंग इज फाइन”।

श्रीमती अमृता फडणवीस ने कहा कि जैसा सद्‌गुरु जी कहते हैं कि हमें नदियों के पास सरकारी ज़मीन पर पेड़ लगाने चाहिए और खेतों में फल उगाने चाहिए। सद्‌गुरु जी ने यह अभियान शुरू किया हैं हम सभी को मिस्ड कॉल करनी चाहिए.”
नदी अभियान - देखें लाइव – दिन 17 - मुंबई कार्यक्रम की झलकें

अभिनेता श्री अनुपम खेर ने कहा कि “हम वैसे ही एक दूसरे को मिस कॉल देते रहते हैं तो बेहतर होगा कि हम इस अभियान के लिए मिस्ड कॉल दें इससे हमारी आनेवाली पीढ़ियों को फायदा होगा”

अनुपम खेर

अनुपम खेर

अन्य सभी ख़ास मेहमानों ने नदियों और नदी अभियान से सम्बंधित अपनी अपनी बात कही…

फिर सद्‌गुरु ने हमारे देश की नदियों की दशा का विस्तृत वर्णन किया.. उन्होंने नदी अभियान की प्रेरणा, लक्ष्य और उसके ढाँचे के बारे में सभी को बताया। सद्‌गुरु ने 24 सितम्बर को विश्‍व नदी दिवस पर सभी से नदी किनारें जाने को कहा उन्होंने कहा “आप सब किसी नदी किनारे जाकर समय बिताइए। नदियों के साथ होने के आनंद को आज बच्‍चे जरूर जानें। नदी किनारे जाकर बैठिए, तैरिये, नाव पर घूमिये या खुद की नाव बनाकर चलाईए। हजारों साल से नदियां बह रही हैं, कई पीढ़ियों का पोषण कर रही हैं। उसे अगर आप एक क्षण के लिए भी अनुभव करते हैं, तो हम उनको बचाने के लिए जरूरी काम करेंगे और भविष्‍य के लिए उनका पोषण करेंगे।“

सद्‌गुरु ने दो सौ नवयुवक मुंबईकर्स का आह्वान किया जो तीन साल के लिए महाराष्ट्र की नदियों के पुनर्जीवन के लिए स्वयं को समर्पित कर सकें। सद्‌गुरु के आह्वान पर सारे युवाओं ने खड़े होकर अपने आप को प्रस्तुत किया।

रात के कार्यक्रम के गीतों ने निश्चित ही सबका मन मोह लिया था, लेकिन वहां से जाते हुए सभी के दिलोदिमाग में सद्‌गुरु के ही शब्द गूँज रहे होंगे।


संबन्धित पोस्ट


Type in below box in English and press Convert